स्वदेशकुमार,पूर्वीदिल्ली। ठीकएकसालपहलेडरऔरदहशतकीचिंगारीशेरपुरचौक,करावलनगरमेंफूटीथी।इसकेबादउत्तरपूर्वीजिलादंगोंकीचपेटमेंआगयाथा।कईलोगोंकीमौतेंहुईं।कईघायलभीहुए।मकानोंऔरदुकानोंमेंतोड़फोड़औरआगजनीभीहुई।

स्कूलऔरपेट्रोलपंपभीइससेअछूतेनहींरहे।लेकिनएकसालमेंपरिस्थितियांकाफीहदतकबदलचुकीहैं।कोरोनामहामारीकोझेलतेहुएदंगेकेदर्दकोदफनकरलोगोंकीजिंदगीअबरफ्तारपकड़नेलगीहै।जिनलोगोंकीमौतेंहुईं,वेतोवापसनहींआसकतेहैं।लेकिनटूटेवजलेप्रतिष्ठानफिरसेशुरूहोचुकेहैं।

ब्रजपुरीस्थितअरुणसीनियरसेकेंडरीपब्लिकस्कूलहोयाशिवविहारतिराहास्थितडीआरपीपब्लिकस्कूल।दोनोंफिरसेबच्चोंकेलिएखुलगएहैं।हालांकि,अभीनौवींसेबारहवींकक्षाकेबच्चेहीस्कूलआरहेहैं।अरुणपब्लिकस्कूलकेनिदेशकभीष्मशर्माकहतेहैंकिमुआवजातोपांचलाखमिलाथा।लेकिननुकसानकरीबसवाकरोड़रुपयेकाहुआथा।दीवारोंकोतोड़नापड़ा।

प्रिंसिपलऔरशिक्षकोंकेकार्यालयकोफिरसेबनानापड़ा।सभीफर्नीचरफिरसेलगाएगए।32सालपुरानेस्कूलकोकभीबंदकरनेपरविचारनहींकिया।डीआरपीस्कूलकेनिदेशकधर्मेशशर्माभीकहतेहैंकिदसलाखरुपयेकामुआवजामिलाथा।लेकिनस्कूलकेपुनर्निर्माणमेंकईगुनाअधिकखर्चहोचुकाहै।

भजनपुरामेंजलकरतबाहहुआपेट्रोलपंपभीहादसेकोपीछेछोड़करफिरअपनीगतिमेंआचुकाहै।लोगयहांप्रतिदिनडीजल-पेट्रोलकेलिएआनेलगेहैं।शेरपुरचौकपरजिसचिकनप्वाइंटसेदंगेकीचिंगारीभड़कीथी,अबवहभीगुलजारहोगयाहै।जाफराबाद,यमुनाविहारऔरकरावलनगरमेंजिनसड़कोंपरउपद्रवहुआथा।वहांनईदुकानेंभीखुलनेलगीहैं।

मुआवजेकेपैसेसेकिसीनेघरखरीदा,तोकोईकररहाबच्चोंकापालन:दंगेमेंजानगंवानेवालेपेशेसेआटोमैकेनिकअकिलकीपत्नीजायरानेबतायाकिजिसवक्तदंगेहुएतबवहपरिवारकेसाथगाजियाबादकेलोनीमेंअपनीमांकेघरगईहुईथीं।

दंगेथमनेकीसूचनाकेबादअकिल26फरवरीकोअकेलेलोनीसेमुस्तफाबादघरजारहेथे।जबवहगोकलपुरीपहुंचेतभीउन्हेंदंगाइयोंनेघेरलियाऔरमारकरनालेमेंफेंकदिया।परिवारनेकईदिनतकउन्हेंढूंढालेकिनवहनहींमिले।एकमार्चकोउनकाशवजीटीबीअस्पतालमेंमिला।

सरकारनेमुआवजेकेदसलाखरुपयेदिए,उससेउन्होंनेलोनीमेंएकघरखरीदा,अबवहअपनेचारोंबच्चोंकोलेकरवहींरहरहीहैं। शिवविहारमेंरहनेवालीसुनीतानेबतायाकिदंगेकेदौरानवहगर्भवतीथीं,उनकेपतिप्रेमसिंहरिक्शाचालकथे।25फरवरीकोदंगेहोरहेथे,घरमेंछोटेबच्चेथेजोदूधकेलिएरोरहेथे।पतिदूधलेनेदुकानपरगए,परवापसनहींलौटे।26कोउनकाशवकर्दमपुरीमेंमिलाथा।

सरकारनेउन्हेंदसलाखकामुआवजादिया,वहउसरकमसेअपनीचारबेटियोंकीपरवरिशकररहीहैं।घरोंमेंकामकाजभीकररहीहैं।वहअशिक्षितहैं,उसीकाफायदाउठाकरएकपड़ोसीनेभीमुआवजेकाकुछहिस्साहड़पलियाथा।उन्हेंमालूमनहींउनकेपतिकेहत्यारेकौनथेऔरउनकेपतिकाक्याकसूरथा।

पहलेथीपार्किंग,अबबजतीहैशहनाई

शिवविहारतिराहेपरहीपार्किंगथीजिसमेंखड़ी54कारोंकोजलादियागयाथा।हादसेकेबादयहांलोगोंनेवाहनखड़ेकरनेबंदकरदिए।संचालकठाकुरब्रह्मसिंहपरिहारइसेबैंक्वेटहालमेंतब्दीलकरदियाहै।अबयहांशादियांहोतीहैंजिनमेंशहनाईबजतीहै।परिहारकहतेहैंकिएकरास्ताबंदहोजाएतोदूसराढूंढनापड़ताहैऔरहमनेभीऐसाहीकिया।

By Elliott