कुरुक्षेत्र,[विनीशगौड़]। अगरअपनेअंदरकेहुनरकोपहचानलियाजाएतोअनपढ़ताभीराहमेंरोड़ानहींबनसकती।इसेसाबितकियाहैबिहारकेजिलामधुबनीकेगांवअहमादाकेअंबिकाजीविकासमूहकीसदस्याओंने।इससमूहकीअशिक्षितमहिलाओंकेहाथकेहुनरकोभीदेशभरमेंकद्रदानमिलरहेहैं।

मधुबनीपेंटिंग बनानेवालायहसमूह150परिवारोंकोरोजगारदेनेकेसाथ-साथमहिलाओंकेसशक्तीकरणकीराहपरभीआगेबढ़ारहाहै। इससमूहसे130सेज्यादामहिलाएंजुड़ीहैं।इनमधुबनीपेंटिंगकोअंबिकाकेबेटेललितझागांधीशिल्पबाजारकुरुक्षेत्रमेंलेकरआएहैं,जोकलाकीर्तिभवनमेंलगाहुआहै।ललितझाबतातेहैंकिउनकेस्टॉलपर50रुपयेसेलेकर18हजाररुपयेतककीमधुबनीपेंटिंग हैं।इनपेंङ्क्षटगकेमुरीददेशभरमेंहैं।

समूहप्रभारी10वींतकपढ़ी

ललितझाबतातेहैंकिउनकीमांअंबिकादेवीअंबिकाजीविकासमूहकीप्रभारीहैं।वेखुद10वींकक्षातकपढ़ीहैं।समूहमेंज्यादातरमहिलाएंकमपढ़ीलिखीहैं।मगरकमपढ़ेलिखेकोलोगसफलतासेआंकतेहैं।ऐसानहींहै।महिलाओंनेमधुबनीपेंटिंगकोसीखाऔरआजसूरत,पुणे,सूरजकुंडसहितदेशकेअलग-अलगकोनोंमेंकमपढ़ीलिखींमहिलाओंकेहुनरकीतरीफसुननेकोमिलतीहै।ललितझाकेअनुसारजरूरतहैमहिलाओंकोप्रोत्साहनदेनेकी।उनकेसाथजितनीभीमहिलाएंजुड़ीहैं,वहएकदिनमेंदोयातीनघंटेहीपेंटिंग बनातीहैं।घरकेकार्यकेसाथ-साथजीविकोपार्जनकरकेवेअपनेआपकोसंबलबनानेकीदिशामेंभीकामकररहीहैं।

वेस्टेजसेबनाएड्राईफ्रूटबास्केटसेलेकरपैनस्टैंड

ललितझानेबतायाकिउनकेस्टॉलपरपेंटिंग औरजोभीसामानहै,वहसबहाथसेबनाहुआहै।मशीनीकोईभीसामानउनकेस्टॉलपरनहींहै।उन्होंनेबतायाकिउनकेपासकैनवसपरबनीमधुबनीपेंटिंग केअलावा,सिल्ककेदुपट्टेपरबनीपेंटिंग भीउपलब्धहै।इसकेसाथहीवेवेस्टेजसेबनेड्राईफ्रूटबास्केट,पैनस्टैंडऔरगमलेभीलेकरआएहैं।इसेकागजऔरहल्दी,दालोंवकईतरहकेमिश्रणकेबादतैयारकियाजाताहै।इनपरभीमधुबनीपेंटिंग कीझलकदिखाईदेतीहै।

पानीपतकीताजाखबरेंपढ़नेकेलिए यहांक्लिककरें

यहभीपढ़ेंः जींदमेंहत्‍याऔरलूट,पेंशनबांटनेजारहीबैंकमित्रमहिलाकोबदमाशोंनेमारीगोली

यहभीपढ़ेंः कैथलमेंशिक्षकनेहजमकियाबच्‍चोंकानिवाला,ग्रामीणोंनेजड़ास्कूलपरताला,मचाहंगामा

By Doherty