सोनूथुआ,कैथल:किसीभीमुकामकोहासिलकरनेकेलिएनियमवकानूनबहुतजरूरीहैं,जबनियमवकानूनमेंरहकरकामकरेंगे,सफलताजरूरमिलगी।इसकीएकमिशालपेशकररहाहैकैथलजिलामुख्यालयसे25किलोमीटरदूरस्थितगुलियानागांव।गांवकेलोगोंनेअपनेबच्चोंकेभविष्यकेलिएऐसेनियमबनाएहुएहैं।जिससेगांवकेयुवातरक्कीकररहेहै।इनसख्तनियमोंकीबदौलतहीदेशसेवाकेप्रतिसमर्पितगांवबनाहै।जहांकेबच्चेबड़ाहोकरभारतीयसेना,एयरफोर्स,नेवी,बीएसएफ,हरियाणा,दिल्लीवचंडीगढ़पुलिससहितकईविभागोंमेंभर्तीहोनापसंदकररहेहैं।पूरेगांवमेंकरीब1200परिवारहैं।जिसमेंसेआज700सेअधिकपरिवारोंमेंसरकारीनौकरीपरसेवादेरहेहै।इसगांवमेंपिछले10सालमेंलगभग400केकरीबसेयुवाओंनेफौजमेंनौकरियांहासिलकीहैं।गांवमेंवर्तमानमेंकरीबपांचहजारकीआबादीहैऔर3500वोटहैं।यहांपर70प्रतिशतसेअधिकआबादीशिक्षितहै।येहैगांवकेनियम

इसगांवकेनियमवकानूनसख्तहै।कमेटीबनाईहुईहै।गांवकेलोगोंनेअपनेबच्चोंकेभविष्यकेलिएऐसानियमबनाएहै।जिससेगांवकाहरयुवाकामयाबहोसकें।इसगांवमेंकोईशराबपीकरहुड़दंगनहींकरसकता।इसगांवमेंदोबोतलसेअधिकशराबलेकरआनेवालेपर11हजाररुपयेजुर्मानालगायाजाताहै।दर्जनभरलोगोंसेजुर्मानावसूलाजाचुकाहै।गांवमेंशादीसमारोहमेंडीजेपरपूरीतरहसेपाबंदीलगाईहुईहै।ताकिकोईघटनानघटे।विवाहशादियोंमेंढोलवबाजेकाप्रयोगकियाजाताहै।स्कूलबनातेसमयनहींलगाईथीलेबर,खुदग्रामीणोंनेकियाथाकाम

सरपंचराजेंद्रबतातेहैकिगांवकीजमीनकोदानमेंदेकरस्कूलबनवायाथा।गांवकेस्कूलबनवातेसमयकोईलेबरनहींलगाईथी।गांवकेहरसदस्योंनेस्कूलकीबिल्डिगतैयारकरवानेमेंसमयदियाथा।शुरूआतमेंयहस्कूल10वींतकबनाथा।अबसीनियरसेकेंडरीस्कूलबनगयाहै।

देसीजुगाड़बनागांवकीताकत

ग्रामीणमजेंद्रनेबतायाकिपांचसालपहलेगांवकेयुवाओंनेतालाबकीबेकारपड़ीजमीनसेझाड़ियावकीकरकेछोटेपेड़काटकरयहांपरकरीबछहएकड़मेंखुदही450मीटरकाट्रेकतैयारकिया।लकड़ियोंकेजुगाड़सेदेसीजिमढांचाखड़ाकिया।टेलीफोनकाएकपुरानाखंभायहांपरगाड़ा,जिसकाप्रयोगरस्सीबांधकरऊपरनीचेचढ़नेकीतैयारीमेंकरतेहैं।नएरंगरूटगुरनाम,सहदेववअजयभीयुवाओंकीतैयारीकरवातेहैं।येहैगांवकीमुख्यसमस्या

ग्रामीणराजूनेबतायाकिगांवकीमुख्यसमस्यापीनेकापानीवपानीनिकासीहै।नहरीपीनेकापानीग्रामीणोंकोनहींमिलपाताहै।बरसातकेसमयमेंपानीनिकासीनहोनेकेकारणगलियोंमेंपानीखड़ारहताहै।जींदकैथलमुख्यमार्गसेगांवकीदूरीदोकिलोमीटरदूरहै।रोडवेजवनिजीबसोंकीसुविधानहींहै।बसोंकीसुविधादीजाए।ताकिआनेजानेवालेलोगोंकोपरेशानीनहो।

By Edwards