रेलमंत्रीपीयूषगोयलकाफीसमयसेरेलवेकोनिजीहाथोंमेंनहींसौंपनेकीघोषणाकररहेहैं।वास्तविकताकुछओरहीबयांकररहीहै।रेलवेबोर्डनेहालहीमेंवर्क्सस्टडीकमेटी(डब्लूएससी)कोउत्तरपश्चिमरेलवेसहितदेशकेसभी16जोनलरेलवेसे13450पदोंकोसरेंडरकरनेकेनिर्देशदिएहैं।रेलवेकेवरिष्ठअधिकारियोंकाकहनाहैकिबोर्डनेउत्तरपश्चिमरेलवेको600पदखत्मकरनेमेंलिएनिर्देशदिएहैं।

अबएसडीजीएमकीअध्यक्षतावालीयेकमेटीजयपुर,जोधपुर,अजमेरऔरबीकानेरमंडलमेंउनपदोंकोचिन्हितकरेगी,जहांकार्यनहींहोनेकेबादभीपदसृजितहैं।राजस्थानमेंवैसेहीकोरोनाखत्महोनेकेबादस्थितियांसामान्यहोनेपररेलवेकोइलेक्ट्रिकट्रेनेंचलानेसहितअन्यकार्योंकेलिएअतिरिक्तकर्मचारियोंकीआवश्कताहोगी।

जरूरत60हजारकी,लेकिन45हजारकर्मचारीहीतैनात

उत्तरपश्चिमरेलवेकेमुख्यालय,जयपुर,जोधपुर,अजमेर,बीकानेरमंडलोंऔरतीनोंकारखानोंमें60हजारपदस्वीकृतहैं।अभीआरपीएफसहितअन्यविभागोंमेंसिर्फ45हजारहीकर्मचारीकार्यरतहैं।सबसेज्यादाकमीकरीब4हजारट्रैकमैनऔरगैंगमैनकीहै।अजमेर,बीकानेरऔरजोधपुरमेंउत्पादनइकाईयों/कारखानोंमेंजूनियरइंजीनियर,टैक्नीशियनऔरहैल्परकीकरीबढ़ाईहजारऔरलेखाविभागसहितमंडलकार्यालयोंमेंमिनिस्ट्रलस्टाफकीभारीकमीहै।

यूनियनकेमहामंत्रीमुकेशमाथुरऔरमजदूरसंघकेअध्यक्षविनोदमेहताकाकहनाहैकिपहलेहीरेलवेमें15हजारपदरिक्तहैं।ऐसेमेंबोर्डद्वारा600पदोंकोखत्मकरनाअनुचितहै।बोर्डद्बाराकमेटीकोसमीक्षाकीबजायपदोंकोखत्मकरनेकाआदेशदेनाभीबिल्कुलगलतहै।येरेलवेकानिजीकरणकरनेकीओरबढ़नेकासंकेतहै।

ऐसेसमझेंकिकिसरेलवेकोकितनेपदखत्मकरनेकालक्ष्यदिया

रिपोर्ट:शिवांगचतुर्वेदी

By Dyer