नईदिल्ली[वीकेशुक्ला]।दिल्लीसरकारलास्टमाइलकनेक्टिविटीकेअपनेसबसेमहत्वपूर्णएजेंडेपरकामकररहीहै।सरकारकीयोजनाहैकिलोगोंकोउनकेघरसे500मीटरकीदूरीपरकिसीनकिसीतरहसार्वजनिकपरिवहनकीसुविधामिले।इसेलेकरसरकारस्तरपरबैठकेंचलरहीहैं।परिवहनमंत्रीकैलाशगहलोतनेअधिकारियोंसेकहाहैकिइसयोजनाकोजल्दसेजल्दजमीनपरउतारनेकेप्रयासकिएजाएं।दिल्लीसरकारकरीबतीनसालसेलास्टमाइलकनेक्टिविटीयानीशहरकेआखिरीछोरपरपरिवहनकीसुविधाएंउपलब्धकरानेकीयोजनाकेतहतकामकररहीहै।

हालांकियहयोजनाआमआदमीपार्टीकीदिल्लीसरकारकेपहलेकार्यकालमेंभीअस्तित्वमेंथी,मगरकिन्हींकारणोंसेइसपरबहुतकामनहींहोसकाथा।मगरपिछलेविधानसभाचुनाव2020केसमयआमआदमीपार्टीनेअपनेघोषणापत्रमेंइसेप्रमुखतासेशामिलकियाथा।दूसरीबारसत्तामेंआनेकेबादभीआपसरकारइसबारेमेंअभीकुछखासनहींकरपाईहै।

सरकारकेअनुसारकारणयहरहाहैकिजैसेहीआपनेसत्तासंभालीउसकेबाददिल्लीमेंकोरोनाकाकहरबढ़गया।तबसेसभीकुछअस्तव्यस्तरहाहैअबहालातकुछसामान्यहैंतोसरकारइसबारेमेंसक्रियहुईहै।यहांबतादेंकिलास्टमाइलकनेक्टिविटीकेलिएदिल्लीसरकारई-वाहनोंकोप्रमुखसाधनमानरहीहै।दिल्लीमेंई-रिक्शाकेलिए30हजारसब्सिडीदीजारहीहै।इससेई-रिक्शाकीसंख्याबढ़रहीहै।दिल्लीमें4500ई-आटोशुरूहोनेजारहेहैं।

डीटीसीकेतहत300ई-बसेंआनेजारहीहैं।क्लस्टरसेवाकेतहतएकहजारलोफ्लोरवातानुकूलितई-बसेंलाएजानेकेलिएतैयारीचलरहीहै।दिल्लीसरकारछोटीबसेंलाएजानेपरफैसलालेनेकेलिएविशषज्ञोंसेचर्चाकररहीहै।मेट्रोफीडरबसोंकेरूटइसतरहतयकिएजारहेहैंकिअधिकसेअधिकइलाकोंसेबसेंगुजरजासकें।डीटीसीवक्लस्टरसेवाकीबसोंकेरूटोंमेंभीबदलावकियाजारहाहै।दिल्लीसरकारकेएकवरिष्ठअधिकारीकहतेहैंकिजल्दहीकुछरूटोंमेंबदलावकियाजाएगा।सरकारइसबारेमेंतैयारकराईगईरिपोर्टकाअध्ययनकरारहीहै।जिसकेअनुसारबसोंकेकुछरूटोंमेंभीबदलावकियाजासकताहै।योजनायहहैकिसार्वजनिकपरिवहनकाअधिकसेअधिकलोगलाभउठासकें।

By Field