नयीदिल्ली,29अक्टूबर(भाषा)दिल्लीकीएकअदालतनेएकबर्खास्तप्रोफेसरकीवहयाचिकाखारिजकरदीहै,जिसमेंउसकेबारेमेंकथितजातिवादीटिप्पणियोंकोलेकरदिल्लीविश्वविद्यालयकेएककॉलेजकेप्राचार्यएवंप्रोफेसरोंकेखिलाफएससी-एसटी(अनुसूचितजाति-अनुसूचितजनजाति)कानूनकेतहतप्राथमिकीदर्जकरनेकाअनुरोधकियागयाथा।अदालतनेकहाकियहमामला‘‘व्यक्तिगतप्रतिशोध’’केकारणदायरकियागया।बर्खास्तअतिरिक्तप्रोफेसरनेआरोपलगायाथाकिकॉलेजकेचारप्रोफेसरऔरप्राचार्यनेउसकीजातिकेकारणउसेजानबूझकरअपमानितएवंपरेशानकरके,फर्जीदस्तावेजबनाकरऔरझूठेरिकॉर्डएवंसबूतपैदाकरकेउसेसेवासेबर्खास्तकरनेकाषड्यंत्ररचा।याचिकाकर्तानेप्राचार्यएवंचारप्रोफेसरकेखिलाफएससी-एसटी(अत्याचाररोकथाम)कानूनकेतहतप्राथमिकीदर्जकिएजानेकाआग्रहकियाथा।उसनेउसकीशिकायतपरप्राथमिकीदर्जनहींकरनेकेपरथानाप्रभारीऔरसंबंधितथानाप्रभारीकेखिलाफकानूनीकदमनहींउठानेकेलिएपुलिसउपायुक्त(डीसीपी)परकार्रवाईकरनेकाभीअनुरोधकियाथा।अतिरिक्तसत्रन्यायाधीश(एएसजे)चारूअग्रवालनेयाचिकाखारिजकरतेहुएकहाकिरिकॉर्डमेंमौजूदसंपूर्णसामग्रीस्पष्टदर्शातीहैकिजिनआरोपोंकाजिक्रकियागयाहै,उन्हेंबादमेंसोचकरलगायागया।न्यायाधीशने26अक्टूबरकेअपनेइसआदेशमेंदिल्लीउच्चन्यायालयकेसमक्षहुईइसमामलेकीसुनवाईकाकोईजिक्रनहींकिएजानेकोलेकरभीशिकायतकर्ताकोफटकारलगाई।एएसजेअग्रवालनेकहा,‘‘वहपहलेकीसभीकार्रवाईयोंमेअसफलरही,इसलिएअपनाव्यक्तिगतप्रतिशोधलेनेकेलिएउसनेमौजूदामामलादर्जकियाऔरवहीपुरानेआरोपलगाए,जोदिल्लीउच्चन्यायालयमेंलगाएगएथे।’’न्यायाधीशनेआदेशदिया,“भारतीयदंडसंहिताऔरएससी/एसटीकानूनकेतहतप्रथमदृष्टयाकोईअपराधनहींबनताहै।तदनुसार,संबंधितपुलिसनेशिकायतकर्ताकीशिकायतपरप्राथमिकीदर्जनहींकरकेउचितकिया।यहअदालतभीसंज्ञानलेनेसेइनकारकरतीहैक्योंकिशिकायतकर्ताद्वारादायरशिकायतकेसंबंधमेंउपलब्धकराईगईसामग्रीकेअनुसारकोईअपराधनहींबनताहै।’’दिल्लीपुलिसनेनौसितंबरकोअदालतमेंदाखिलकीगईकार्रवाईरिपोर्ट(एटीआर)मेंकहाथाकिअधिनियमकेतहतकोईअपराधनहींबनताहै।शिकायतकर्तानेदावाकियाथाकिउसेअगस्तसेदिसंबर2019तकचारमहीनेकीअवधिकेलिएतदर्थआधारपरसहायकप्रोफेसरकेरूपमेंनियुक्तकियागयाथाऔरइसअवधिकोबादमेंबढ़ादियागयाथा।याचिकामेंयहदावाभीकियागयाथाकि10अगस्त,2020कोउसेकॉलेजअधिकारियोंनेसूचितकियाकिअबउसकीसेवाओंकीआवश्यकतानहींहै,जिसकेबादवहइसकाकारणजाननेकेलिएप्राचार्यसेमिलीलेकिनउसेअपमानितकियागया,धमकायागयाऔरउसकेखिलाफजातिआधारितटिप्पणियांकीगईं।

By Farmer