नयीदिल्ली,आठफरवरी::वायुगुणवत्ताकेलिहाजसेराष्ट्रीयराजधानीदिल्लीकेलिएसाल2016बेहदखराबरहा।साल2016मेंहवामेंप्रदूषितकणपीएम2.5औरपीएम10कीमात्राशहरकेकुछइलाकोंमेंसुरक्षितमानकोंसेपांचगुनातकज्यादापहुंचगयी।केंद्रीयपर्यावरणमंत्रीअनिलदवेनेलोकसभामेंएकसवालकेजवाबमेंबतायाकिदिल्लीमेंसाल2014केबादसेलगातारहवामेंपीएम2.5औरपीएम10कीमात्राबढ़ीहै,लेकिनपिछलेसालोंकीतुलनामें2016केदौरानवायुमेंइसकीमात्राकाफीतेजीसेबढ़ीहै।वार्षिकनिर्धारितमानकोंकेअनुसारभारतमेंपीएम2.5औरपीएम10कीमात्राप्रतिघनमीटरमें40और60माइकोग्रामरही।वहीं24घंटेकेमानककेअनुसारयहमात्राक्रमश:60और100रही।केंद्रीयप्रदूषणनियंत्रणबोर्डकेतहतआनेवालेशाहजादाबागनिगरानीस्टेशननेहालांकिनियतवार्षिकमानककेमुकाबलेपिछलेसालहवामेंपीएम2.5औरपीएम10कीमात्राक्रमश:120और348ग्रामप्रतिघनमीटरदर्जकी,जबकिसिरीफोर्टस्टेशननेइसकीमात्राक्रमश:102और320ग्रामप्रतिघनमीटरदर्जकी।दिल्लीमेंपिछलेसालपीएम10कीमात्रा260ग्रामप्रतिघनमीटरदर्जकीगई,जोकिसुरक्षितस्तरसेचारगुणाज्यादाहै।वहींप्रदूषकएनओटू:नाइट्रोजनडाईऑक्साइड:केमामलेमेंयह65रहा,जबकिइसकावार्षिकमानक40है।मंत्रीनेअपनेजवाबमेंबतायाकिनवंबर2016-जनवरी2017केदौरानमौसमकीवर्तमानअवस्थाओंजैसेहवाकीगतिकमहोनेऔरतापमानमेंकमीकीवजहसेइनकणोंकीमात्रासबसेज्यादाज्यादारही।दिल्लीमेंपिछलेसाल2016मेंनवंबरकेपहलेसप्ताहमेंभयंकरधुंधकेकारणहवाकीगुणवत्ताबेहदखराबरही।इसस्थितिकोविग्यानऔरपर्यावरणकेंद्रनेपिछले17वर्षोंमेंसबसेखराबबतायाथा।दिल्लीमेंपीएम2.5औरपीएम10राष्ट्रीयमानकोंकीअपेक्षाभलेहीज्यादादर्जकीगईहो,लेकिनवायुमेंएसओटू:सल्फरडाइऑक्साइड:कीमात्राराष्ट्रीयपरिवेशवायुगुणवत्तामात्राकेभीतरहीरही।