नयीदिल्ली,11जून(भाषा)दिल्लीसरकारद्वाराकोविड-19मरीजोंकेइलाजकेलिएनामितपांचअस्पतालोंमेंलगभग70प्रतिशतबिस्तरखालीपड़ेहैं,इसकेबावजूदराष्ट्रीयराजधानीमेंकोविड-19रोगियोंकेलिएबिस्तरउपलब्धनहोनेयाउपचारनमिलनेकीशिकायतेंमिलीहैं।इसकोलेकरविशेषज्ञोंकाकहनाहैकिऐसीस्थितिइसलिएहैक्योंकिलोगसरकारीअस्पतालोंमेंइलाजनहींकरानाचाहरहेहैं।बृहस्पतिवारदोपहरको‘दिल्लीकोरोना’ऐपपरसाझाकीगईनवीनतमजानकारीकेअनुसार,इनपांचकोविड-19अस्पतालोंमें3,000सेअधिकबिस्तरखालीपड़ेहैं,जिनकीकुलक्षमता4,344बिस्तरोंकीहै।हालांकि,कईबड़ेनिजीअस्पतालोंकेलगभगसभीबिस्तरभरेहैं।कोविड-19केकईपुष्टवसंदिग्धरोगियोंकेपरिवारोंनेपिछलेकुछहफ्तोंमेंआरोपलगाएहैंकिउन्हेंकईअस्पतालोंमेंउनकेपरिजनोंकोभर्तीनहींकियागयायाउन्हेंबिस्तरनहींमिलसके।चिकित्साऔरसार्वजनिकस्वास्थ्यविशेषज्ञोंकामानना​​हैकिऐसासरकारीअस्पतालोंकीछवि,बुनियादीढांचेऔरस्वच्छताकीस्थितिऔरशायदकर्मचारियोंकीकमीकेकारणहोसकताहै।बृहस्पतिवारदोपहरको‘दिल्लीकोरोना’ऐपपरउपलब्धनवीनतमआंकड़ोंकेअनुसार,केंद्रऔरदिल्लीसरकारोंद्वारासंचालितअस्पतालोंऔरनिजीअस्पतालोंमेंकुल9,444बिस्तरउपलब्धहैं।इनमेंसे4,371खालीहैं।ऐपमेंबतायागयाहैकिकोविड-19उपचारकेलिएसमर्पितदिल्लीसरकारद्वारासंचालितअस्पतालोंमेंबिस्तरउपलब्धहैं।एलएनजेपीअस्पतालमें1,219बिस्तरउपलब्धहैं,जबकिजीटीबीअस्पतालमें1,314,राजीवगांधीसुपरस्पेशयलटीअस्पतालमें242बिस्तरखालीहैं।हालांकि,उसमेंदिखायागयाहैकिकईबड़ेनिजीअस्पतालोंकेलगभगसभीबिस्तरभरेहुएहैं।एलएनजेपीअस्पतालमेंकुल2,000बिस्तरहैं,जिनमेंसे781भरेहुएहैं।जीटीबीअस्पतालमेंकुल1,500बिस्तरहैं,जिनमेंसेकेवल186बिस्तरोंपरमरीजभर्तीहैं।आरजीएसएसएचमेंभी500मेंसे258बिस्तरहीभरेहुएहैं।ऐपकेअनुसार,राष्ट्रीयराजधानीमेंअन्यसमर्पितकोविड-19अस्पतालोंमेंभीबिस्तरउपलब्धहैं।दीपचंदबंधुअस्पतालमेंकुल176मेंसे94बिस्तरखालीहैंऔरसत्यवादीराजाहरिश्चंद्रअस्पतालमेंकुल168मेंसे145बिस्तरखालीहैं।दिल्लीसरकारकेइनपांचअस्पतालोंमेंकुल4,344बिस्तरहैं,जिनमेंसे3,014यानी69.38प्रतिशतखालीहैं।आरजीएसएसएचकेएकवरिष्ठचिकित्सकनेकहा,‘‘हमअस्पतालमेंकोविड-19केकेवलबहुतगंभीररोगियोंकोहीभर्तीकररहेहैं।हल्केलक्षणोंवालेयाबिनालक्षणवालेमरीजोंकोयातोउनकेघरमेंहीपृथकवासमेंरखाजारहाहैयाउन्हेंकोविड-19देखभालकेंद्रभेजाजारहाहै।गंभीरहालतवालेरोगियोंकोभर्तीकरनेकेलिएहमारेपासअतिरिक्तबिस्तरभीउपलब्धहैं।’’दिल्लीकेस्वास्थ्यमंत्रीसत्येंद्रजैननेहालहीमेंकहाथाकिहोसकताहैकिकुछनिजीअस्पतालनेमरीजोंकोप्रवेशदेनेसेइनकारकरदियाहो,लेकिनदिल्लीसरकारद्वारासंचालितअस्पतालोंनेकिसीभीजरूरतमंदकोविड-19रोगीकोबिस्तरदेनेसेइनकारनहींकियाहै।उन्होंनेयहभीकहाथाकिकोविड-19इलाजकेलिएनिर्धारितबिस्तरोंकीसंख्याकेमामलेमेंबड़ेनिजीअस्पतालोंकेलगभगसभीबिस्तरभरेहुएहैं।ऐपकेअनुसार,इंद्रप्रस्थअपोलो,शालीमारबागकेमैक्सअस्पताल,फोर्टिसअस्पताल,बीएलकपूरअस्पतालजैसेप्रमुखनिजीअस्पतालोंमेंबिस्तरपूरीतरहसेभरेहुएहैं।साकेतकेमैक्सअस्पतालमेंकोविड-19रोगियोंकेलिएकुल200बिस्तरहैं,जिनमेंसेकेवलएकखालीहै।नौजूनको,दिल्लीसरकारनेराष्ट्रीयराजधानीमें22निजीअस्पतालोंकोकोरोनावायरसकेरोगियोंकेइलाजकेलिएकुल2,015अतिरिक्तबिस्तरआरक्षितकरनेकानिर्देशदियाथा।वकीलऔरसार्वजनिकस्वास्थ्यकार्यकर्ताअशोकअग्रवालनेकहाकिबुनियादीढांचेऔरस्वच्छतादोमुख्यकारकहैं,जिसकेकारणलोगअभीभीसरकारीअस्पतालोंमेंजानेसेबचनाचाहतेहैं।अधिकारियोंनेबतायाकिदिल्लीमेंबुधवारकोकोरोनावायरस1,501नएमामलेसामनेआए,जिससेमहानगरमेंकोविड-19मामलोंकीकुलसंख्या32,000सेअधिकहोगईऔरसंक्रमणकेकारणअबतक984लोगोंकीमौतहुईहैं।

By Evans