संस,लुधियाना:एसएसजैनस्थानकसिविललाइंसमेंमहासाध्वीवीणामहाराजठाणा-5सुखसाताविराजमानहैं।इसअवसरपरप्रवचनप्रभाविकाश्रीसंचितामहाराजनेकहाकिआत्माराधनाएवंस्वदोषदर्शनएवंउनकेनिवारणकेमहानसंदेशलेकरपर्यूषणपर्वआएहैं।इन्हींपर्वकामहत्वयहहैकिकुछभीतपत्यागनकरनेवालेकेमनमेंभीकुछनकुछसद्कर्मकरगुजरनेकेभावमनमेंजगतेहैं।जोलोगएकघंटेकेलिएभोजननहींछोड़पातेथेयाएककपचायछोड़नहींसकतेथे।वेलोगभीतेले-तेले,अठाईयांतकतपकियाकरतेहैं।यहपर्यूषणपर्वकीमहत्ताहै,जिसमेंलोगएकदूसरेकोक्षमाचायनासेलेकरभूलशिकवेदूरकरतेहै।पर्यूषणोंकेदौरानअन्तकृद्रदशांगसूत्रकीवाचनाकीजातीहै।इसअवसरपरचातुर्मासकमेटीचेयरमैनजितेंद्रजैनश्रमणजीयार्न,सभाध्यक्षअरिदमनजैननेकहाकिपर्यूषणपर्वचारसितबरसे11सितबरतकहोंगे,जिसमेंजप,तप,स्वाध्याय,आदिअनुष्ठानोंमेंश्रावकश्राविकाएंहिस्सालेतेहैउसकेपश्चातक्षमादेक्षमालेकापर्वसंवत्सरीआताहै,जिसमेंसभीअपनेसेभूलचूककोलेकरएकदूसरेसेक्षमायाचनाकरतेहैं।इसअवसरपरसीनियरउपाध्यक्षसुभाषजैनमहावीर,महामंत्रीप्रमोदजैन,कोषाध्यक्षरजनीशजैनगोल्डस्टार,विनोदजैनगोयम,विजयजैनजैनपैकेवल,अनिलजैनबावा,संजयजैन,वैभवजैनऔरसमस्तकार्यकारिणीसदस्यगणशामिलथे।

By Dunn