सिद्धार्थनगर:गर्मीशुरूहोतेहीकमगहराईवालेहैंडपंपोंनेपानीउगलनाबंदकरदिया।इटवावखुनियांवब्लाककेदर्जनोंगांवशुद्धपेयजलकीसमस्यासेजूझरहेहैं।ग्रामप्रधानोंकीउदासीनताकाखामियाजाजनताभुगतरहीहैक्योंकिगांवमेंइंडियामार्कहैंडपंपगिनेचुनेहीहैं।

प्रतिवर्षकीतरहइसवर्षभीगर्मीप्रारंभहोतेहीपानीकातलनीचेखिसकगया।कमगहराईकेहैंडपंपसूखगएहैं।गांवकेलोगोंकोपानीकीसमस्यासेजूझनापड़रहाहै।संग्रामपुर,सुकालाजोत,अमौना,इटवा,भावपुरमीरा,पतिला,मूसाकेलोगभीइससमस्यासेजूझरहेहैं।मोतीलाल,नवीन,प्रमोद,मालती,नूरजहां,मुकीमआदिलोगोंकाकहनाहैकिप्रधानवब्लाककीउदासीनताकेचलतेपेयजलकीदिक्कतहै।प्रधानप्रतिनिधिभावपुरमीरामो.अनीसनेबतायाकिगांवकेजोहैंडपंपखराबहैंउन्हेंसहीकरवायाजारहाहै।समस्याकीजानकारीअधिकारियोंकोदीगईहै।एडीओपंचायतसंजयमिश्रानेकहाकिसभीग्रमप्रधानवसेक्रेटरीकोआवश्यकदिशा-निर्देशदिएगएहैं।प्रकृतिकेसाथस्वार्थठीकनहीं

लखनऊविश्वविद्यालयकेपर्यावरणविद्नरेशसक्सेनाकहतेहैंकिजबतकप्रकृतिकेसाथस्वार्थकाभावनहींबंदकरेंगेऐसीऔरइससेगंभीरसमस्याआसकतीहै।निजीस्वार्थवशहमतालपोखरोंकोसुखादेतेहैं।पानीरिसाइकिलहोकरतयस्तरतकनहींपहुंचपाता।प्रशासनकोइसतरफध्यानदेनाचाहिए।

By Ellis