जागरणसंवाददाता,फतेहपुर:1,800से2,300रुपयेवालीबेंचका7,500से8,500रुपयेतककाभुगतानकरकेकईग्रामपंचायतेंफंसगईहैं।अबडीएमनेजांचकेजरिएशिकंजाकसाहैतोगांवोंसेलेकरब्लाकतककलईखुलनेलगीहै।ब्लाककेअधिकारीकिसीभीसूरतपरमामलेकोदबानेमेंजुटेहैं,तोवहींसचिवबचावकेरास्तेखोलरहेहैं।अंधेरयहहैकिगांवपंचायतोंमेंलाखोंकीसामग्रीआपूर्तिकरनेवालीअधिकांशफर्मेसिर्फकागजपरचलरहीहैं।इनकेपासनतोअपनीदुकानहैऔरनहीकोईगोदाम।जबकि,फर्मसंचालनकीयहपहलीशर्तहैकिपासमेंगोदामऔरदुकानहोनीचाहिए।

दरअसल,जोफर्मेजिलेमेंकामकररहींहैंउनकाअप्रत्यक्षरूपसेसंबंधब्लाकप्रमुख,पंचायतसचिववरोजगारसेवकोंसेहैं।इन्होंनेअपनेरिश्तेदारोंकेनामफर्मेंसंचालितकररखीहै।भलेहीफर्मेकेपासधरातलपरकोईकामनहींहैलेकिनकागजमेंइनकाटर्नओवरसेलेकरदस्तावेजीकोटापूराहै।बतादेंकिगांवपंचायतोंमेंबेंचघोटालेकीपोलदैनिकजागरणनेखोलीथी।इसकेबादडीएमअपूर्वादुबेनेपूरीखरीदपरजांचशुरूकरादीहै।जांचमेंपोलखुलीतोयहतयहैकिकईकर्मियोंऔरअफसरोंपरविभागीयवविधिककार्रवाईहोगी।

यहहैफर्मोंकाखेल

गांव-गांवसामग्रीआपूर्तिमेंजुटीफर्मेहैंतोदूसरोंनामकी,लेकिनअसलमेंइनपरकमांडबीडीओ,सचिववरोजगारसेवकोंकीहै।मनचाहेबिलपरसामानदेनेवालीयहसंस्थाएंकमीशनदेतीहैऔरदोसेचारगुणातककाबिलदेतीहै।कमीशनवालीराशिकावितरणभीकईचौखटोंतकपहुंचताहै।यहफर्मेंनिर्माण,सजावटीसामानकेसाथभूसातककीसप्लाईमेंजुटीहैं।

तीनसौसेअधिकपंचायतेंखरीदमेंसंदिग्ध

बीतेकुछसमयमेंबेंचखरीदहुईहै।इसमें300सेअधिकगांवपंचायतेंसंदिग्धकीश्रेणीमेंहै।इनकेपासबेंचखरीदनेकानतोकोईअधिकारहैऔरनहीकोईकार्ययोजना।इन्होंनेमनमानेतरीकेसेबेंचकीखरीदकीहै।अबजांचमेंगर्दनफंसरहीहैतोबचावकेलिएहाथपैरमाररहींहैं।

वाउचरऔरबिलबदलनेकीकोशिश

डीएमनेजांचशुरूकराईहैतोकईपंचायतेंकार्रवाईसेबचनेकेलिएवहवहवाउचरहीबदलनेमेंलगींहै।इसमेंबेंचखरीदकारिकार्डहै,लेकिनउन्हेंक्यापताकिउनकायहबिलपहलेहीलीकहोचुकाहै।वाउचरबदलनेपरइनपरएकऔरकार्रवाईहोनातयहै।क्योंकि,यहदस्तावेजीछेड़छाड़कीश्रेणीमेंआताहै।