गोरखपुर,जागरणसंवाददाता।दोसालपहलेतकपूर्वोत्तररेलवेकेजिसट्रैकपरपैसेंजरट्रेनों(सवारीगाड़ी)केलिएभीमालगाडिय़ांस्टेशनकेसाइडवालीलाइनपररोकदीजातीथीं,आजवहएक्सप्रेसट्रेनोंकीबराबरीकररहीहैं।पूरीतरहलोड(सूमोरेकवाली)मालगाडिय़ांभी60किमीप्रतिघंटेकीगतिसेचलनेलगीहैं।खालीमालगाडिय़ांतो80किमीप्रतिघंटेकीरफ्तारसेफर्राटाभररहीहैं।

ट्रेनोंकीटाइमिंंगभीहुईदुरुस्त

गोरखपुरसेगोंडातककीदूरीमहजतीनसेचारघंटेमेंहीपूरीकरलेरहीहैं।तबछहसेआठघंटेलगजातेथे।यहसंभवहोपायाहैरेलमार्गोंकेविद्युतीकरणऔरपटरियोंकीमजबूतीसे।लगभग90प्रतिशतरेलमार्गोंकेविद्युतीकरणनेनसिर्फमालगाडिय़ोंकीरफ्तारबढ़ादीहैबल्कियात्रीट्रेनोंकासमयपालनभीदुरुस्तकरदियाहै।पर्यावरणसंरक्षणकेसाथरेलवेकेखर्चेभीकमहोगएहैं।

60किमीप्रतिघंटेकीरफ्तारहुईनिर्धारित

तेजीकेसाथरेलमार्गोंकेहोरहेविद्युतीकरणसेउत्साहितबोर्डनेएक्सप्रेसट्रेनोंकीभांतिमालगाडिय़ोंकीगतिभीनिर्धारितकरदीहै।ताकिसामानदेशकेएकसेदूसरेछोरतकसमयसेपहुंचाएजासकें।फिलहाल,बोर्डनेखालीरेकवबड़ेब्रेकवानवालीमालगाडिय़ोंकेलिए80,खालीरेकवछोटेब्रेकवानवालीमालगाडिय़ोंकेलिए75,लोडमालगाडिय़ोंकेलिए65तथासूमोरेकवालीमालगाडिय़ोंकेलिएअधिकतम60किमीप्रतिघंटेकीरफ्तारनिर्धारितकरदीहै।

औसतगति23सेबढ़कर50किमीप्रतिघंटेसेअधिकहुई

ऐसेमेंमालगाडिय़ोंकीऔसतगति23सेबढ़कर50किमीप्रतिघंटेसेअधिकहोगईहै।जानकारोंकेअनुसारबोर्डकोनिर्धारितगतिसेकममंजूरनहींहै।सुस्तचालवालेसंबंधितलोकोपायलटबख्शेनहींजाएंगे।इसकेलिएदिशा-निर्देशभीजारीकरदियाहै।यहांजानलेंकिएक्सप्रेसट्रेनेंभी100से110किमीप्रतिघंटेकीगतिसेचलरहीहैं।पूर्वोत्तररेलवेकाबाराबंकी-गोरखपुर-छपरालगभग425किमीमुख्यरेलमार्ग130किमीप्रतिघंटेकीरफ्तारकेलायकतैयारहोचुकाहै।

मालगाडिय़ांभीअबएककेपीछेएक

यात्रीट्रेनोंकीभांतिमालगाडिय़ांभीएककेपीछेएकचलनेलगीहैं।संख्याबढऩेपरसमूहमेंभीचलाईजारहीहैं।गोरखपुरजंक्शनसेहीएकदिनमेंदोदर्जनमालगाडिय़ांपासहोजारहीहैं।

लगनेलगे6120हार्सपावरवालेशक्तिशालीइंजन

विद्युतीकरणकेबादमालगाडिय़ोंमें6120हार्सपावरवालेशक्तिशालीडब्लूएजी9इंलेक्ट्रिकइंजनलगनेलगेहैं।यहइंजनस्टेशनसेछूटतेहीगतिपकड़लेरहेहैं।विद्युतीकरणकेपहलेतीनसेचारहजारहार्सपावरवालेडीजलइंजनलगतेथे,जोगोरखपुरसेछपरापहुंचनेमें10से12घंटेलगादेतेथे।

By Evans