नईदिल्ली[आशीषसिंह]। पंजाबविधानसभाचुनावमेंइतिहासरचनेवालीआमआदमीपार्टी(आप)कामुख्यालयजश्नमेंडूबानजरआया।दीनदयालउपाध्यायमार्गस्थितपार्टीमुख्यालयमेंकुछवैसाहीउत्सवथा,जैसाकिदोवर्षपहले2020मेंदिल्लीविधानसभाचुनावपरिणामआनेकेबादथा।तबभीइसकेचारोंऔरकार्यकर्ताओंकासैलाबथाऔरबृहस्पतिवारकोभी।सुबहसेजैसेहीमतगणनाकेरूझानआनेलगेऔरपार्टीपंजाबमेंऐतिहासिकजीतबनानेकीओरअग्रसरदिखनेलगीतभीसेपार्टीकार्यकर्ताओंऔरसमर्थकोंकेकदमपार्टीमुख्यालयकीओरबढ़नेलगे।

बच्चोंसेलेकरबुजुर्ग,महिलाएंवयुवाओंकाउत्साहदेखतेहीबनरहाथा।दोपहरतकइतनेलोगजुटआएकिव्यवस्थाबनानेरखनेमेंसुरक्षाकर्मियोंकेपसीनेछूटनेलगे।स्थितियहकिमुख्यालयकेबाहर-अंदरकामाहौलएकजैसाथा।जबमुख्यमंत्रीअरविंदकेजरीवालदिल्लीसरकारकेअन्यमंत्रियोंवसहयोगियोंकेसाथमुख्यालयपहुंचेतोसुरक्षाव्यवस्थाकोदेखतेहुएमुख्यद्वारबंदकरनापड़ा।

जीतकाजश्नकुछऐसाजैसेकिआजहीहोलीकात्यौहारहो।जमकरगुलालउड़रहेथे।सबजीतकेरंगोंमेंरंगेहुएथे।समर्थकएक-दूसरेकेगलेमिलकरवमिठाईखिलाकरजीतकीबधाईदेरहेथे।मशीनोंकेद्वारापुष्पवर्षाहोरहीथी।माहौलखुशनुमाथा।

समर्थकवकार्यकर्ता''एकमौकाकेजवरीवालनूऔरएकमौकाभगवंतमाननू''गानेधुनपरझूमरहेथे।जोकोईभीआतागानेकेबोलउसेथिरकनेकोमजबूरकरदेरहेथे।लोगएक-दूसरेकोखुशीमेंनृत्यकेलिएआग्रहभीकरतेदिखे।इसकेसाथहीदिल्लीनगरनिगममेंभीकेजरीवालकेनारेलगातेदिखे।

केजरीवालवमानकीवेशभूषामेंपहुंचेतीनवर्षीयअवयाना

मुख्यमंत्रीअरविंदकेजरीवालवभगवंतमानकीवेशभूषापहनेमयूरविहारसेआएतीनवर्षीयअवयानातोमरआकर्षणकेकेंद्रमें।हरकोईउनकेसाथसेल्फीलेतादिखा।वहीं,उन्होंनेभीनृत्यकरलोगोंकादिलजीता।उनकेस्वजनोंनेकहाकिवहपार्टीकेसमर्थकहैं,चुनावकेसमयअवयानाभीपंजाबमेंप्रचारकेलिएगएथे।जिससेजीतकेजश्नमनानेकेलिएपूरापरिवारसाथआयाहै।

बड़ी-बड़ीएलईडीस्क्रीनलगाईगई

पार्टीमुख्यालयकेबाहरचुनावनतीजेंदेखनेकेलिएएलईडीस्क्रीनलगारखीथी,जिससेसड़कसेगुजरनेवालेलोगभीचुनावकेनतीजेदेखनेकेलिएरूकरहेथे।बादमेंजबदिल्लीकेमुख्यमंत्रीअरविंदकेजरीवालनेजीतकाजश्नमनानेपहुंचेकार्यकर्ताओंकोसंबोधितकररहेथेतोउन्हेंसुननेकेलिएकाफीसंख्यामेंलोगएलईडीकेसामनेखड़ेथे।इसकेसाथहीमुख्यालयकेबाहरलाउडस्पीकरभीलगाएगएथे।

बाबासाहबऔरभगतसिंहकेलगेहोर्डिंग्सऔरबैनर

बाबासाहबडा.भीमरावअंबेडकरऔरशहीद-ए-आजमभगतसिंहकीजगह-जगहहोर्डिंग्सऔरबैनरलगाएथे।मुख्यालयकीओरजानेवालीसड़कभीइनपोस्टरोंसेपटीनजरआई।मुख्यमंत्रीजहांसेपार्टीसमर्थकोंकोसंबोधितकररहेथे,वहांभीबाबासाहबऔरशहीद-ए-आजमभगतसिंहकाबैनरलगाहुआथा।

By Farmer