अजयकुमारअजय,चानन(लखीसराय):कोरोनाकासंक्रमणकिसीकेलिएअभिशापबनकरआयातोकिसीकेलिएवरदानबनकर।शहरोंमेंनौकरीकरनेवालोंसेलेकरछोटेकारोबारियोंतकमंदीकाअसरपड़ाहै।कुछलोगइसकोरोनाकालमेंअपनाउद्यमस्थापितकरकेसफलउद्यमीबनचुकेहैं।जिलेकेसूर्यगढ़ाप्रखंडकेरामपुरगांवकाअमितकुमारकानामभीइसीक्षेत्रमेंशुमारहै।एमबीएमेंरैंकहोल्डररहचुकेअमितपुणेमें10वर्षोंसेकारपोरेटकंपनीमेंनौकरीकररहेथे।कोरोनाकालमेंवर्कफ्रोमहोममेंघरआगए।फिरगांवप्रेमनेवापसजानेनहींदिया।यहांचाननप्रखंडकीमहेशलेटापंचायतकेबिछवेगांवकेपासउसनेअपनीजमीनके15,000स्क्वायरफीटभू-भागपरशेडडालकरमशरूमकीखेतीशुरूकी।अमितअपनीमेहनतसेरोजानालगभगसौकिलोमशरूमकाउत्पादनकररहेहैं।सौसेअधिकलोगोंकोमशरूमकीखेतीकरनेकाप्रशिक्षणभीदेचुकेहैं।अमितजैसेयुवाउद्यमियोंकीमेहनतकेबलपरहीबिहारमशरूमउत्पादनमेंपूरेदेशमेंतीसरेस्थानपरहै।मशरूमकेकईफायदेहैं।इससेरसोईघरकेअंदरकईतरहकेजायकेबनतेहैं।इसलिएमशरूमकीमांगकाफीहै।पहलेलोगदूसरेबड़ेशहरोंसेआयातितमहंगेदरपरमशरूममंगातेथेलेकिनअबगांवमेंहीसस्तेदरपरलोगोंकोयहउपलब्धहै।अबतोबिहारसरकारकेउद्यमीविभागनेअमितकुमारकाचयनकियाहै।इसपरखुशीजाहिरकरतेहुएअमितकहतेहैंकिइससरकारीसहयोगसेनईयूनिटकाकामशुरूहोगा।इसकेबादसभीतरहकेप्रोसेसिगकाकामहोगा।मशरूमकेविभिन्नउत्पादबनेंगेऔरउनकीब्रांडिगकरकेदूरकेशहरोंएवंदूसरेराज्योंमेंपहुंचायाजाएगा।अमितअपनेप्रशिक्षणकेसहारेयुवाओंकोस्वावलंबीबनानेकेराहबनारहेहैं।युवाओंकोस्वरोजगारकेलिएप्रेरितभीकररहेहैं।

By Finch