जागरणसंवाददाता,नारनौल:

ऐसेविद्यार्थीजोनिजीस्कूलमेंपढ़रहेथेलेकिनअबसरकारीस्कूलोंमेंदाखिलालेनाचाहतेहैंलेकिनपुरानेस्कूलसेस्कूलछोड़नेकाप्रमाणपत्र(एसएलसी)नहींदेरहेहैंतोपरेशानहोनेकीजरूरतनहींहै।ऐसेबच्चोंकोबिनाकिसीपरेशानीकेसरकारीस्कूलोंमेंदाखिलादिलासकतेहैं।एसएलसीकेलिएभारीभरकमराशिखर्चकरनेकीआवश्यकतानहींहै।विद्यालयशिक्षानिदेशालयकीओरसेसोमवारकोजिलामौलिकशिक्षाअधिकारीऔरजिलाशिक्षाअधिकारीकार्यालयकोपत्रभेजकरबच्चोंकादाखिलाकरानेकेनिर्देशदिएहैं।विभिन्नस्कूलमुखियाओं,अध्यापकसंगठनोंकेमाध्यमसेशिकायतकीगईथीकिनिजीस्कूलोंकेबहुतसेविद्यार्थीसरकारीविद्यालयोंमेंदाखिलालेनेकेलिएप्रयासरतहैंलेकिनगैरसरकारीस्कूलोंद्वाराउनकाएसएलसीनहींदिएजानेकेकारणऑनलाइनदाखिलोंमेंदिक्कतेंआरहीहैं।विभागकीओरसेऐसेविद्यार्थियोंऔरअभिभावकोंकेलिएयहव्यवस्थाकरानेकेसाथतुरंतसरकारीविद्यालयोंमेंदाखिलादेनेकेनिर्देशदिएहैं।

स्कूलकरेगानिजीस्कूलकोसूचित:

विद्यार्थीकादाखिलाहोनेकेबादसरकारीस्कूलकामुखियाउसस्कूलकोसूचितकरेगाकिविद्यार्थीकासरकारीस्कूलमेंदाखिलाहोगयाहैतथा15दिनकेअंदरऑनलाइनएसएलसीस्कूलकोभेजाजाए।यदिपंद्रहदिनकेअंदरसंबंधितनिजीस्कूलनेएसएलसीऑनलाइनजारीनहींकियातोस्वत:हीजारीहुआमानलियाजाएगा।कोविड-19कीत्रासदीकेकारणकिसीभीविद्यार्थीकीऔपचारिकशिक्षानकारात्मकरूपसेप्रभावितनहींहोनीचाहिए।

अभिभावकोंपरनहींपड़ेगाआर्थिकबोझ:

इसव्यवस्थासेअभिभावकोंकोफायदाहोगा।निजीस्कूलसंचालकएसएलसीकेनामपरभारीभरकमराशिवसूलतेहैं।विभागकेइसनिर्णयसेएकतोअभिभावकोंकोआर्थिकनुकसानसेबचावहोगादूसराराजकीयस्कूलोंमेंनामांकनबढ़ानेमेंसहायतामिलेगी।इससे25याइससेकमसंख्यावालेराजकीयस्कूलोंकोबंदयामर्जकरनेकीपरेशानीसेभीबचावहोगा।----------------

उच्चविभागसेइससंबंधमेंसोमवारकोहीदिशानिर्देशआएहैं।सभीखंडस्तरपरअधिकारियोंकेमाध्यमसेसंबंधितस्कूलोंकोसूचितकियाजारहाहै।अभिभावकोंसेआग्रहहैकिवेअपनेबच्चोंकाराजकीयस्कूलोंमेंदाखिलाकराएंगेतोअनुभवीशिक्षकोंकामार्गदर्शनकेसाथसरकारीयोजनाओंकाभीलाभमिलेगा।

-नसीबसिंह,जिलामौलिकशिक्षाअधिकारी।

By Dunn