नईदिल्ली,जागरणसंवाददाता।कृषिकानूनोंकेविरोधकेबहानेसिंघुबार्डरपरछोटे-छोटेबच्चोंमेंहिंसाकाजहरघोलाजारहाहै।जिसउम्रमेंबच्चोंकोस्कूलजानाचाहिए,पढ़ाईकरनीचाहिए,खेलनाचाहिए,उसउम्रमेंमासूमोंकोआजादी,हिटलरशाही,तलवारें,लाठीचलाने,बदलालेने,बैरिकेडतोड़नेऔरगालीदेनेकापाठपढ़ायाजारहाहै।प्रदर्शनकारीउनबच्चोंकीगालीदेतेहुएवीडियोबनाकरभीवायरलकररहेहैं।उनकोसिखायाजारहाहैकियहकानूनकिसानोंकीजमीनछीननेकेलिएबनाएगएहैं।उनकेबहकावेमेंआकरछोटे-छोटेबच्चेइसेदिलसेलगाबैठेहैं।

दरअसल,100दिनसेकृषिकानूनोंकेविरोधमेंप्रदर्शनकारीधरनादेरहेहैं।यहांपरलोगअपनेपरिवारकोलेकरपहुंचरहेहैं।यहांपरप्रदर्शनकारियोंनेआतंकियोंसमेतऐसेआपत्तिजनकपोस्टरलगारखेहैं,जोबच्चोंमें¨हसाकाजहरघोलरहेहैं।यहांपरकाफीऐसेबच्चेभीपहुंचरहेहैंजोआसपासकेरहनेवालेहैं।उनपरभीइनकेनारोंकागलतअसरपड़रहाहै।

बच्चेजोदेखतेहैंवहीदोहरातेहैं।इनबच्चोंकोयहीबतायाजारहाहैकिइनकानूनोंकीमददसेसरकारउनकीजमीनपरकब्जाकरलेगीऔरउन्हेंगुलामबनालेगी।ऐसेमेंबच्चोंमेंअसुरक्षाकीभावनापैदाहोरहीहै,वहींमनोविज्ञानियोंकाकहनाहैकिबालमनबहुतहीकोमलहोताहै।उन्हेंऐसीहिंसकबातोंसेदूररखनाचाहिए।

आंदोलनकारियोंनेसाढ़ेपांचघंटेबंदकियाकेएमपी-केजीपी

वहीं,संयुक्तकिसानमोर्चाकेआह्वानपरकृषिकानूनकेविरोधमेंआंदोलनकारियोंनेशनिवारकोकेएमपीऔरकेजीपीएक्सप्रेस-वेपरसाढ़ेपांचघंटेतकजामलगायागया।इससेसोनीपत,पलवलऔरगुरुग्राममेंजामकीस्थितिदेखीगई।सुबहसाढ़ेदसबजेहीहजारोंआंदोलनकारीकेएमपीऔरकेजीपीपरपहुंचेऔरजीरोप्वाइंटपरजामलगादिया।इससेचालकोंकोपरेशानीकासामनाकरनापड़ा।इसदौरानभारीसंख्यामेंपुलिसबलकीतैनातीकीगईथी।आंदोलनकारियोंकाजामपूर्वघोषितथा,इसलिएपुलिसनेमुरथलऔरबहालगढ़मेंदोनोंहाईवेकीओरजानेवालोंवाहनोंकोडायवर्टकरदियाथा।

येभीपढ़ेंः RakeshTikaitसेतीखेसवालपूछनेवालीछात्रामहिलादिवसपरकीजाएगीसम्मानित