संवादसूत्र,गिद्दड़बाहा(श्रीमुक्तसरसाहिब)

दिव्यज्योतिजागृतिसंस्थानकीओरसेडेराबाबागंगाराममेंपांचदिवसीयश्रीकृष्णकथाकाआयोजनकियागया।आशुतोषमहाराजजीकीशिष्यासाध्वीसुमेधाभारतीनेकहाकिसकलविश्वकीमातासेमंडितगायहमारीभारतीयसंस्कृतिकीमेरूदंडहैं।गायकेसुरक्षितरहनेपरहीमानवजीवनवसकलवसुंधरासुरक्षितरहसकतीहैं।

उन्होंनेकहाकिपुरातनभारतमेंगायकोमांकहकरउसकीपूजाकाविधानथाजोअबतकचलाआरहाहैं।पुरातनभारतमेंजबकिसीकोदान-दक्षिणादीजातीथीयाबेटीकोदहेजदियाजाताथा,तोइसमेंगोदानहीसवोर्परिथा।भारतमेंहमारीभारतीयनस्लकीगांयोंकेदूध,दहीइत्यादिपंचगव्यपदार्थोसेहमाराभरण-पोषणकरतीथी।गायकेमूत्रमेंअनेकोंहीअच्छेतत्वपाएजातेहैं।जिनकीगुणवताकोदेखकरवैज्ञानिकोंनेइसेउतमस्वास्थ्यरसायणकानामदिया।त्रासदीकाविषयतोयहहैंकिआजहमअपनीमाताकासम्मानकरनाहीभूलगएहैं।गायकत्लखानोंमेंकटरहीहैं।विदेशीजिसगायकेमहत्वकोसमझरहेहैंहमअपनीउसीगायकीमहानताकोभुलाकररूग्णहोरहेहैं।भारतवासियोंकोसमयरहतेअपनीमाताकेसंवर्धनवसरंक्षणकेलिएआगेआनाहोगा।दिव्यज्योतिजागृतिसंस्थाननेगायसंरक्षणवसंवर्धनकेलिएठोसकदमउठायाहै।संस्थानकेकामधेनुप्रकल्पकेतहतअनेकोंगोशालाओंकानिर्माणकियागया।वैज्ञानिकोंवरिर्सचटिपसकेलिएगोशालाएंरिर्सचसैंटरबनचुकीहैं।बिनाकिसीबाहरीसहायताकेपिछलेदससालोंमेंकामधेनुप्रकल्पनेगोसंवर्धनवनस्लसुधारनेइतनीसफलताप्राप्तकीकिभारतसरकारनेइसप्रकल्पकोराष्ट्रीयपुरस्कारसेसम्मानितकिया।दिव्यज्योतिजागृतिसंस्थानआहवानकरताहैंकिवहगौसंरक्षणकेलिएजाग्रतहो।

कथामेंसुनीलबांसल,नवनीतबांसल,अशोककुमार,श्यामलाल,कृष्णलालमोंगा,चिकुमोंगा,रिक्कीजिदल,संजयगर्ग,गोपाल,छिदीजैन,दीपकगर्ग,मिठनलालगर्गवअमितकुमारबांसलभीउपस्थितथे।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!