जासं,इटावा:सेंचुरीनेचरफाउंडेशनसहायतितमडऑनबूटकार्यक्रमकेअंतर्गतसोसाइटीफॉरकंजर्वेशनऑफनेचरद्वाराग्रामकसौआमेंघड़ियालसंरक्षणजागरूकताकार्यक्रमकाआयोजनकियागया।संस्थाकेसचिवसंजीवचौहाननेग्रामीणोंकोचंबलनदीमेंपाएजानेवालेघड़ियालोंकेबारेमेंबताया।उन्होंनेकहाकिइससमयगर्मीज्यादाहोनेकेकारणपानीकीकमीहोतीजारहीहै,ऐसेमेंनदीमेंपाएजानेवालेजीवोंकाप्राकृतवासप्रभावितहोरहाहैजिससेकभीकभारवेभटककरबाहरआजातेहैंऔरगांवमेंपहुंचजातेहैं।ऐसीस्थितिमेंवनविभागकोतुरंतसूचनादेकरउनकीजानबचासकतेहैं।

मयंकवर्मानेकहाकिआजकलनदियोंमेंपाएजानेवालेकछुओंपरभीसंकटछायाहुआहै।पहलेसर्दियोंमेंइनकोपकड़करकोलकाताभेजाजाताथा।लेकिनआजकलइसकीखालकेलिएइसकाशिकारकियाजारहाहैऔरनदियोंकेकिनारेकईस्थानोंपरशिकारहोरहाहै।उन्होंनेलोगोंसेकहाकियदिकहींइसतरहकीखालनिकालनेकीप्रक्रियाद्वारादेखीजातीहैतोवनविभाग,पुलिसविभागयाबैनरमेंदिएनंबरपरसूचनादेसकतेहैं।कार्यक्रमकोसफलबनानेमेंराहुलमिश्रा,दीपकअग्रवाल,आकाश,ध्रुवकुमार,शैलेन्द्रकुमारकाउल्लेखनीययोगदानरहा।

By Doherty