साहिबगंज: यहांकेगल्लाव्यवसायी75वर्षीयनंदकिशोरतंबाकूवालाकोकोरोनावायरसनेजिदगीकासबसेबड़ादर्दकियाहै।हमेशासुबहशामघूमकरअपनाजीवनबितानेवालेनंदकिशोरअबअपनेघरमेंकैदहोगएहैं।कोरोनाकोकोसतेहुएबतातेहैंकिअपनेजीवनमेंपहलीबारइसप्रकारकासंकटझेलनेकोमजबूरहैं।ऐसारोगपहलीबारआयाहै।दोबेटियांहैं,जिनकीशादीकरचुकेहैं।बेटानहींहै।घरपरऐसासंसाधनभीनहींहैकिजिसकेसहारेजीसकें।स्थितिऐसीआगईहैकिघरकेआसपासभीनहींजासकतेहैं।जीनेकेलिए31मार्चतकघरमेंरहनेकोविवशहोनापड़रहाहै।साहिबगंजशहरकेपंचमोड़वाएलसीरोडमेंअपनेपुरानेघरमेंरहनेवालेगल्लाव्यवसायीनंदकिशोरतंबाकूवालापरेशानहैं।यहांआसपासअन्यव्यवसायीभीरहतेहैंपरंतुइससमयकोरोनाकेसंक्रमणकेभयसेसभीअपनेघरसेबाहरनिकलनेसेपरहेजकररहेहैं।ऐसेमेंनंदकिशोरकीकिसीसेबातचीतभीनहींहोपारहीहै।दोबच्चियोंकेपिताकोअबयहदर्दसतारहाहैकिअगरघरपरबच्चारहतातोसाथसमयबीतातेपरंतुएकबच्चीकीशादीकोलकातामेंकरचुकेहैंजबकिदूसरीकीशादीबहरमपुरकेपासपलासीमेंहुईहै।दोनोंअपनेपरिवारकेसाथखुशहालहैं,लेकिनइसहालतमेंवेअपनेघरसेनिकलकरबच्चियोंकेपासभीनहींजासकतेहैं।बच्चियोंसेमोबाइलपरकभीकभारबातकरतेहैं।उनकेपड़ोसमेंबड़ेभाईकेशोप्रसादतंबाकूवालाकाघरहैपरंतुउससेभीबहुतकममुलाकातहोतीहै।नंदकिशोरअपनादर्दबतातेहुएकहतेहैंकिकोरोनावायरसकेसंक्रमणकेखतरेनेउनकेजिदगीमेंजहरघोलदियाहै।इससेपहलेइसप्रकारकाकोईवायरसनहींआयाथा।अबघरसेबाहरनिकलनेकीइजाजतकाइंतजारकररहेहैंकबस्थितिसामान्यहोगी।

By Field