रघोत्तमशुक्ल।परमपुरुषस्वयंमेंअकर्ताहोकरअपनीयोगमायायानीप्रकृतिकेमाध्यमसेइसविराटएवंपूर्णतयाविज्ञानसम्मतसृष्टिकासृजनऔरसंचालनकरताहै।इसमेंस्वत:स्फूर्तएकसंतुलनहै,जिससेअतिशयछेड़छाड़भयंकरपरिणामोंकावाहकबनतीहै।संप्रतिविकासकेनामपरप्रकृतिकेविकृतीकरणकीअतिहै।मानाकिहमआदिमयुगकीओरनहींलौटसकते,किंतुवन,पर्वत,समुद्रऔरआकाशकोविद्रूपकरनेकीआजसंसारमेंहोड़लगीहुईहै।यहतोआपत्तिजनकहैही।बातपर्वतोंऔरअपनेदेशकी,जहांहिमालयपरचमोलीजिलेमेंऋषिगंगापनबिजलीपरियोजनापरग्लेशियरटूटगयाहैऔरभारीत्रसदीहोगईहै।

मनीषीपूर्वजोंनेइन्हेंभूधर,धरणीधरआदिनामोंसेपुकारा,यानीयेपृथ्वीकोसाधेहुएहैं।भगवानश्रीकृष्णनेइंद्रकेकोपसेहुईअतिवृष्टिसेब्रजकीरक्षाकरनेकेलिएपर्वतकाहीसहारालियाऔरगिरधारीकहलाए।विश्वकेसर्वश्रेष्ठदर्शनग्रंथगीताकेदशमअध्यायमेंअपनीविभूतियोंकावर्णनकरतेहुएउन्होंनेअपनेकोस्थावरोंमेंहिमालयऔरशिखरोंमेंमेरुकहकरपर्वतराजहिमालयकीमहानताऔरपवित्रतारेखांकितकीहै।देवाधिदेवमहादेवकानिवासहीवहांपरमपवित्रकैलासपरहै।पृथ्वीहरिद्वारतकहीमानीगईहै।इसकेऊपरदेवभूमिमान्यहै।इसनगरकोहरिकाद्वारनामितकियागयाहै।महाकविकालिदासनेअस्त्युत्तरस्यांदिशिदेवतात्माहिमालयोनामनगाधिराज:कहकरइसकीमहत्ताबताईहै।

संप्रतिविकासकेनामपरइनपर्वतशिखरोंकेवक्षविदीर्णकिएजारहेहैं।हरपर्यटनएवंधर्मस्थलतकमोटरसेपहुंचजानेहेतुसड़केंबनरहीहैं।हेलीकाप्टरोंकीगड़गड़ाहट,मोटरोंकाधुआं,पालीथिनकाकचरा,पेड़ोंकीकटान,पनबजलीपरियोजनाओंकोसंचालितकरनेहेतुनदियोंकीधाराएंमोड़नेकेदुरूहतथाप्रकृतिविरोधीकार्यचरमपरहैं।तीव्रगतिसेपक्केनिर्माणहोरहेहैं।समाजशास्त्रियों,पर्यावरणविदोंऔरस्थानीयनिवासियोंकीआवाजनजरअंदाजकीजारहीहै।

मालूमहोकिअंतरिक्षस्थितमानवताकेरक्षाकवचओजोनकीपरतमेंछिद्रहोचुकेहैं।हमेंतुरंतसतर्कहोजानाचाहिए।वर्तमानत्रसदीमेंहमअपनेपीड़ितउत्तराखंडवासियोंकेसाथहैं।बदरिकाश्रमक्षेत्रभगवानविष्णुकीतपस्थलीहै,जहांलक्ष्मीजीबदरी(बेरीकापेड़)बनकरउनपरछायाकरतीहैं।वेनिश्चयहीरक्षाकरेंगे।हां,हमेंभीअपनीसावधानियांतोबरतनीपड़ेंगी।

सागंधमादनलताकुसुमौघलक्ष्मी,

सादिव्यतुंगहिमवन्नगश्रृंगपंक्ति:।

गंगाचपुण्यसलिलाकिमुयन्नरम्यं,

त्वामागतोस्मिशरणंबदरीवनेस्मिन।

[पूर्वप्रशासनिकअधिकारी]

UttarakhandFloodDisaster:चमोलीहादसेसेसंबंधितसभीसामग्रीपढ़नेकेलिएक्लिककरें

By Duncan