गंगोलीहाट,जेएनएन:नगरमेंस्थितराजकीयमहाविद्यालयगंगोलीहाटकोनएभवनमेंशिफ्टकरनेपरमहाविद्यालयकेछात्र-छात्राएंभड़कगएहैं।छात्र-छात्राओंकाकहनाहैकिनएभवनकीदूरीवर्तमानमेंजिलापंचायतभवनमेंचलरहेमहाविद्यालयसेकरीबचारकिमीहै।जहांपहुंचनेकेलिएछात्र-छात्राओंकोघनेजंगलोंसेहोकरतीव्रढलानऔरवापसीमेंखड़ीचढ़ाईकासामनाकरनापड़ेगा।छात्र-छात्राओंनेकहाकियदितीनदिनकेभीतरइसओरकोईआवश्यककार्रवाईनहींकीगईतोवहक्रमिकअनशनमेंबैठनेकोबाध्यहोंगे।

वर्ष2001मेंगंगोलीहाटमेंमहाविद्यालयखोलागया।कुछसमयतकमहाविद्यालयनिजीभवनमेंचला।इसकेबादसेअबतकमहाविद्यालयजिलापंचायतकेडाकबंगलेमेंसंचालितकियाजारहाहै।अबमहाविद्यालयकासिमलकोटमेंअपनाभवनबनकरतैयारहोगयाहै।जिसमेंमहाविद्यालयकोशिफ्टकरनेकीतैयारीचलरहीहै।जिससेछात्र-छात्राएंभड़कगएहैं।छात्रसंघअध्यक्षसागरबोरानेकहाकिमहाविद्यालयकानयाभवनघनेजंगलोंकेबीचहै।यहांसड़कमार्गभीनहींहै।नगरसेसिमलकोटकीदूरीकरीबचारकिमीहै।जहांहरसमयगुलदार,जंगलीसुअर,सियारआदिजंगलीजानवरोंकाभयबनारहताहै।इससेछात्र-छात्राओंमेंजानकाखतरापैदाहोसकाहै।बोरानेकहाकिवर्तमानमेंमहाविद्यालयमें471छात्र-छात्राएंअध्ययनरतहैं।जिसमें80प्रतिशतछात्राओंकीसंख्याहै।अधिकांशविद्यार्थीगरीबपरिवारोंसेहैं।इससंबंधमेंछात्र-छात्राओंनेगुरुवारकोप्राचार्यडॉ.चंद्रप्रकाशकोज्ञापनसौंपकरमहाविद्यालयकोयथावतसुचारूरूपसेसंचालितकिएजानेयामुख्यबाजारकेनजदीकपूर्वमेंप्रस्तावितभूमिहाथीगौनकेपासमहाविद्यालयकानिर्माणकार्यकरनेकीमांगकी।ज्ञापनसौंपनेवालोंमेंछात्रसंघउपाध्यक्षकौशलउप्रेती,हेमानेगी,हेमलतामहरा,कंचनमहरा,कंचननेगी,ज्योति,सुरेंद्रसिंह,सूरजसिंह,संतोषकोहली,दीपकसिंह,अंकित,देवेंद्रसिंह,हरीशसिंह,अंकिताउप्रेतीआदिशामिलरहे।

By Finch