कानपुर,[शशांकशेखरभारद्वाज]।आइआइटीकानपुरमेंशिक्षा,शोधऔरतकनीककोबढ़ावादेनेकेलिएपुरातनछात्रआगेआरहेहैं।उन्होंनेछहसालकेअंतरालमेंखूबदानदियाहै।कोरोनाकालमेंदेशहीनहीं,दुनियाभरमेंजबआर्थिकगतिविधियांमंदहोगईं,तबउन्होंनेसंस्थानकीझोलीभरी।

मौजूदावित्तीयवर्षमेंअबतक21करोड़रुपयेकीमददपुरातनछात्रकरचुकेहैं,जबकिमार्चतकइसके25करोड़तकपहुंचनेकाअनुमानहै।येछात्रभारत,अमेरिका,जर्मनी,ऑस्ट्रेलिया,इंग्लैंड,कोरिया,जापानसमेतअन्यदेशोंमेंरहरहेहैं।छात्रोंसेमिलीधनराशिनएविभागोंकेभवन,प्रयोगशालाएंबनानेऔरशोधकार्योंमेंइस्तेमालहोगी।अबतककईभवनऔरपार्कबनचुकेहैं।कोरोनाकालमेंसबसेपहलेऑनलाइनपढ़ाईकोबेहतरकरनेकेलिएबीटेकप्रथमवर्षकेजरूरतमंदकरीब400छात्रोंकोलैपटॉपऔरब्राडबैंडमुहैयाकरायागया।यहआर्थिकसहयोगकरीब2.5करोड़रुपयेकाथा।

पिछलेछहवर्षोंकीस्थिति

वर्ष-      राशि(करोड़में)

किसने-कितनीदीधनराशि

यूएसएकेरणजीतसिंहनेतीनकरोड़वदेवजुनेजानेदोकरोड़,रोनोदेबरॉय,जीतबिंद्रा,हेमंतशाहनेएक-एककरोड़रुपयेकासहयोगदियाहै।साथहीकईएल्युमिनाईऐसेहैं,जिन्होंने50लाख,25लाख,11लाखरुपयेतककासहयोगकियाहै।कईसॉफ्टवेयर,इलेक्ट्रॉनिक्सऔरअन्यकंपनियांमददकररहीहैं,जोआइआइटीकेपुरातनछात्रोंकीहैं।

स्कूलऑफमेडिकलसाइंसेजमेंकरेंगेमदद

क्लासऑफ1992नेसंस्थानमेंप्रस्तावितस्कूलऑफमेडिकलसाइंसेजकेनिर्माणमें20करोड़रुपयेदेनेकाभरोसादियाहै।

इन्होंनेभीदियाआश्वासन

राहुलमेहताफाउंडेशनकीओरसेसेंटरऑफइंजीनियरिंगमेडिसिनकेनिर्माणकोदोमिलियनडॉलरमिलेंगे।वहीं,सस्टेनेबलएनर्जीऔरकॉग्नेटिवसाइंसविभागोंकीबिल्डिंगनिर्माणमेंभीमददकोकईछात्रआगेआएहैं।

पूरेबैचकासामूहिकयोगदान

बैच-  मिलीराशि

By Dyer