20सितंबरसेपितृपक्षशुरूहोरहाहै।हिंदूधर्ममेंपितृपक्षकाविशेषमहत्वहै।इसमेंपितरोंकापूजनकियाजाताहै।मान्यताहैकिपितृप्रसन्नहोनेपरजीवनमेंआनेवालीपरेशानियोंकोदूरकरतेहैंऔरजीवनमेंसुखसमृद्धिप्रदानकरतेहैं।पितृपक्षमेंगयाजिलेमेंमेलेकाआयोजनकियाजाताहै।पितृपक्षकीवजहसेहीगयाबिहारकाएकमात्रऐसाशहरहैजिसेलोग'गयाजी'कहतेहैं।बाहरकेश्रद्धालुभीगयाजीसंबोधितकरतेहैं।

कोरोनाकालमेंपिछलेसालइसमेलेकाआयोजननहींकियागयाथा।परइसबारपंडासमाजसेलेकरव्यापारसेजुड़ेलोगोंमेंअबप्रशासनसेथोड़ीउम्मीदेंबंधीहैकिइसबारमेलेकाआयोजनहोगा।बीतेगुरुवारकोविश्वविख्यातविष्णुपदमंदिरभीश्रद्धालुओंकेलिएखोलदियागयाहै।पितृपक्षके17दिनोंकेमेलेमें100करोड़रुपएसेज्यादाकाकारोबारहोताहै।यहापिंडदानकेलिएविदेशोंसेभीश्रद्धालुपहुंचेहैं।श्रद्धालुओंकाअभीसेहीआनाशुरूहोचुकाहै।

आजहमआपकोबतातेहैंकिइसविष्णुपदमंदिरवपितृपक्षमेलाकीवजहसेशहरकीव्यापारिकगतिविधियांकैसेटीकीहुईहैं।जिलाप्रशासनकेअनुमानितआंकड़ोंकेमुताबिक6से8लाखकेबीचपितृपक्षमेलामेंप्रत्येकवर्षयहांपिंडदानीआतेहैं।पितृपक्षमेलाआश्विनकृष्णपक्षसेशुरूहोजाताहै।मेलेकीतयतिथिसेकरीबचारमाहपूर्वसेसरकारकेदिशानिर्देशपरजिलाप्रशासनतैयारीमेंजुटजाताहै।

पंडासमाजभीश्रद्धालुओंकेआमदकोदेखतेहुएअपनेस्तरसेतीर्थयात्रियोंकेरहनेऔरपिंडदानकीक्रियाकोपूर्णकरनेवकरानेकीव्यवस्थामेंजुटजातेहैं।इसमेलेमेंपूजासामग्री,वस्त्र,दानमेंदेनेवालेपीतलवकांसेकेबर्तन,फूल-माला,होटल,औरयातायातकेसंसाधानोंसेजुड़ेकारोबारकासीधाताल्लुकहै।यहांयातायातमेंरेल,बस,ऑटोवकारमहत्वपूर्णहै।शहरमेंऑटोयारिक्शाइसलिएजरूरीहैकिजिन-जिनपिंडवेदियोंकेनिमितपिंडदानकिएजातेहैं,वहसभीकिसीएकस्थानपरस्थितनहींहैं।वेवेदियांशहरकेविभिन्नस्थानोंवकोनोंपरस्थितहैं।

किसीजमानेमेंपिंडवेदियां360हुआकरतीथीं,जिनमेंसेअबकईलुप्तहोचुकीहैं।उनमेंसेगिनतीकीहीपिंडवेदीबचीहैं।प्रबंधनसमितिवचैंबरऑफकामर्सकीमानेंतोमेलेकेदौरानव्यापारकरीब100करोड़रुपएसेऊपरकाहोताहै।चैंबरऑफकामर्सकाकहनाहैकिव्यापारसेजुड़ेकिसीसेक्टरमेंकितनाट्रांजेक्शनहोताहै,इसकाअंदाजालगानामुश्किलहै,लेकिनयहतयहैकि100करोड़रुपएसेअधिककाहीट्रांजेक्शनहोताहै।

मंदिरप्रबंधनकारिणीसमितिकेअध्यक्षशंभुलालबिठ्‌ठलकाकहनाहैकिपितृपक्षमेलाआयोजनकीसंभावनाकमहीनजरआरहीहै।मेलाकेआयोजनकेलिएकरीबतीनमाहपूर्वसेतैयारीशुरूहोतीहै।अबकुछहीदिनोंबादपितृपक्षशुरूहोनेजारहाहैतोयहअबसंभवनहींहै।ऐसेमेंसरकारऔरप्रशासनसेउम्मीदयहीहैकिजोभीतीर्थयात्रीजहांसेभीआरहेहैं,उनकीसुरक्षा,रहनेवयातायातकीबेहतरव्यवस्थाकरें।

पंडासमाजसेजुड़ेविश्वहिंदूपरिषदकेनेताप्रेमनाथटइयाकाकहनाहैकिजोभीसमयबचाहै,उसीमेंसरकारवप्रशासनकोपितृपक्षमेलाकासूक्ष्मरूपमेंआयोजनकरनाचाहिए।यहीसरकारसेहमारीमांगहै।इधर,फूल-मालाकारोबारीदीपूमालाकार,किशनगणेशगोपालमालाकारकाकहनाहैकिमंदिरखोलदियागया,येअच्छीबातहै।साथहीअबपित्तृपक्षमेलाकाभीआयोजनसरकारकरेंताकिउनकाकारोबारकुछगतिपकड़सके।