सुलतानपुर:बढ़ताप्रदूषणलोगोंकेस्वास्थ्यपरअसरडालरहाहै।वहीं,गड्ढोंमेंतब्दीलसड़कोंसेउठनेवालाधूलकागुबारराहगीरोंकेआवागमनमेंसमस्याभीबनाहुआहै,जिससेलोगोंकोबीमारियांमिलरहीहैं।

लखनऊ-वाराणसीफोरलेनकानिर्माणकार्यचलरहाहै।निर्माणसामग्रीपुरानेराष्ट्रीयराजमार्गसेलेजाईजारहीहै।नेशनलग्रीनट्रिब्यूनल(एनजीटी)केस्पष्टनिर्देशहैंकिवाहनोंपरलदीसामग्रीकोढांककरलेजायाजाए,जिससेआसपासकेलोगोंकोपरेशानीनहो।इसकेसाथउच्चन्यायालयऔरपर्यावरणमंत्रालयद्वाराभीप्रशासनकोनिर्देशितकियागयाहैकिसड़कोंधूलनउड़े,जिससेपर्यावरणकोशुद्धवस्वच्छबनायाजासके।लेकिन,फोरलेननिर्माणमेंइननिर्देशोंकापालननहींहोरहाहै।दरअसल,निर्माणाधीनहाईवेपररोजानामिट्टी,गिट्टी,राबिश,झर्रीवसड़कनिर्माणकीअन्यसामग्रीकोखुलालादकरगुजरनेवालेडंपरप्रदूषणकोलगातारफैलारहेहैं।

त्वचा,नेत्रऔरहृदयरोगकालोगबनरहेशिकार:

हाईवेपरनियमितरूपसेमिट्टी-धूलऔरगिट्टियोंकेबुरादेसेउड़नेवालेगुबारसेबाइकसवारवराहगीररोगोंसेग्रसितहोरहेहैं।अभियाखुर्दकेआदित्यपांडेयकोआंखतोजोखईपांडेयकोसांसकीतकलीफहोगईहै।बेलासदाकेपंकजदूबे,अभियाकलाकेविजयकुमारपांडेय,सागरशुक्ल,रमेश,प्रभाततिवारीआदिलोगत्वचा,सांसवनेत्रविकारसेपीड़ितहैं,जिनकाइलाजचलरहाहै।इससंबंधमेंसीएचसीभदैंयाकेचिकित्साधिकारीडॉ.अनूपश्रीवास्तवनेबतायाकिधूलसेस्किनवफेफड़ेतथाआंखप्रभावितहोतीहैं।उन्होंनेकहाकिशरीरकोढंकनेकेसाथमास्कऔरहेलमेटलगाकरहीहाईवेपरचलें।

By Doyle