जासं,अमृतसर:लगातारबढ़रहीमहंगाईसेजहांगरीबवर्गकेलोगोंकोदोवक्तकीरोटीनसीबनहींहोरही,वहींमध्यवर्गीयपरिवारोंकारसोईकाबजटबुरीतरहप्रभावितहोचुकाहै।हरवस्तुकेदामआसमानछूरहेहैं।रसोईसेकईखाद्यवस्तुएंदूरहोतीजारहीहैं।महंगाईसेजनताकीकमरटूटचुकीहैऔरइससेहरघरकीमहिलाएंपरेशानहैं।लोगोंकोपहलेकोरोनानेआर्थिकबोझकेनीचेदबायाऔरअबमहंगाईसांसेंअटकारहीहै।

आजखाद्यतेल,घी,चायपत्ती,दूध,ब्रेड,जैम,चावल,दाल,आटा,मसाला,गैस,आलू,प्याज,टमाटर,पेट्रोल-डीजलआदिहरचीजकेदाममेंउछालआचुकाहै।पिछलेकरीबतीनसालकेआंकड़ोंपरनजरदौड़ाएंतोलगभगसभीचीजोंकेरेट50फीसदसेअधिकबढ़ेहैं।पहलेचारसदस्योंकेपरिवारकारसोईकाबजटजोपहलेतीनहजाररुपयेथा,वहबढ़करपांचहजाररुपयेतकपहुंचगयाहै,क्योंकिपिछलेदोसेतीनसालोंकेदौरानहरचीजकेदामकाफीज्यादाबढ़चुकेहैं।यहीनहींनिर्माणसामग्रीकेदामभीकाफीबढ़ेहैंजिसकारणकंस्ट्रक्शनकेकार्यप्रंवाभितहोचुकेहैं।महंगाईथामनेकेलिएसरकारसुविधादे:मंजूशर्मा

बटालारोडनिवासीमंजूशर्मानेकहाकिआजमहंगाईआसमानपरहै।इसकाएकबड़ाकारणलगातारमहंगाहोरहापेट्रोल-डीजलभीहै,क्योंकिहरएकचीजट्रांसपोर्टपरनिर्भरहै।अगरट्रांसपोर्टमहंगीहोगीतोवस्तुएंकेदामभीबढे़ंगे।इसलिएसरकारइसमहंगाईकोकंट्रोलकरनेकेलिएकदमउठाए।सरकारोंकोबनानीचाहिएपालिसी:सुमनकांता

बटालारोडनिवासीसुमनकांता,सरबजीतकौरनेकहाकिहमअपनेबेहतरभविष्यकेलिएसहीसरकारचुनतेहैं।ऐसेमेंकेंद्रऔरराज्यसरकारकोमिलकरजनताकेहितमेंऐसीपालिसीबनानीचाहिएजिससेमहंगाईपरनियंत्रणहो।सरकारोंकोमिलकरकामकरनाहोगातभीलोगोंकोमंहगाईसेराहतमिलेगी।सिलेंडरतकभरवानामुश्किलहोचुका

बटालारोडनिवासीस्नेहसहगल,आशारानीनेकहाकिसिलेंडरकेदामजिसतरहआसमानछूरहेहैं,ऐसालगरहाहैकिफिरसेपुरानेसमयकीतरहलकड़ियांजलाकरगुजाराकरनाहोगा।इसलिएसिलेंडरकेबढ़रहेदामकरनेमेंसरकारगंभीरतादिखाएऔरबंदकीसब्सिडीकोफिरसेशुरूकियाजाए।इसतरहसमझेंपिछलेतीनसालोंमेंअप्रैलमाहमेंकितनेथेदाम

दूध35रुपये40रुपये45रुपयेली.

खाद्यतेल110रुपये125रुपये180रुपयेली.

गैससिलेंडर600रुपये750रुपये980रुपये

ब्रेड20रुपये25रुपये30रुपयेपैकेट

डालडाघी120रुपये140रुपये170रुपयेकिलो

चायपत्ती340रुपये370रुपये400रुपयेकिलो

पेट्रोल73रुपये90रुपये105रुपयेली.

आटा-23रुपये27रुपये35रुपयेकिलो

कालेचने55रुपये60रुपये75रुपयेकिलो

सफेदचने80रुपये100रुपये115रुपयेकिलो

नींबू40रुपये60रुपये200रुपयेकिलो

आलू10रुपये15रुपये20रुपयेकिलो

प्याज12रुपये15रुपये20रुपयेकिलो

टमाटर30रुपये35रुपये40रुपयेकिलो