ग्वालियर/जबलपुर,राज्‍यब्‍यूरो।  हाथरसकांडमेंपीड़ितपरिवारकेघरदोदिनरहनेवालीजबलपुरकीडॉ.राजकुमारीबंसलकाभीमआर्मीसेजुड़ावसामनेआयाहै।ग्वालियरभीमआर्मीकेपदाधिकारियोंनेस्वीकाराकिडॉ.बंसलसंगठनसेजुड़ीहुईहैं।उनकेफेसबुकपोस्टपरभड़काऊसंदेशोंसेयहजाहिरहैकिवेइसविचारधाराकीसमर्थकहैं।

तीनअक्टूबरकोडालेगएएकपोस्टमेंतोउन्होंनेयहांतकलिखाहैकिअफसोसहैकिहाथरसकीबेटीहिंदूहै,दफनायागयाहोतातोपोस्टमार्टमहोपाता।यहपोस्टतीनअक्टूबरकाहै।हाथरसकांडसेविवादोंमेंआनेकेबादइनकापोस्टभीचर्चामेंआगयाहै।सबकीनजरहै।इसपूरेघटनाक्रमकोलेकरडॉ.बंसलसेलगातारसंपर्ककरनेकीकोशिशकीगई,लेकिनवहफोनऔरमैसेजकाकोईजवाबनहींदेरहीहैं।डॉ.बंसलमूलत:ग्वालियरकेजगजीवननगरकीरहनेवालीहैं।जनवरी2020मेंआखिरीबारवहग्वालियरआईथीं।

डॉक्टरकेफेसबुकअकाउंटसे

-3अक्टूबरशाम6.29बजेडॉ.राजकुमारीबंसलनेअपनेफेसबुकअकाउंटसेएकऔरपोस्टकियाहै,जिसमेंन्यूजचैनलकीब्रेकिंगन्यूजमेंयूपीकेमुख्यमंत्रीकाबयानदिखरहाहै,जिसमेंवहकहरहेहैंकिठाकुरोंकाखूनगर्महै,ठाकुरोंसेगलतियांहोजातीहैं।इसपरडॉ.राजकुमारीबंसलनेलिखा--'जातिकाअहंकारअपनीजातिमेंहीसीमितरखो,वरनातुम्हारेगर्मखूनपरहमारासदियोंकाखौलताखूनभारीपड़जाएगा..।'जबकिपड़तालकेबादपायागयाथाकिउप्रकेमुख्यमंत्रीयोगीआदित्यनाथकावहबयानफर्जीथा।

-9अक्टूबररात9.40बजेएकपोस्टबसपासंस्थापककांशीरामकेपरिनिर्वाणदिवसपरविनम्रश्रद्धांजलिपरकीहै।जिसमेंकहाहैकि'आत्मनिर्भरबनिएआपकीआनेवालीपीढ़ियांगुलामीकीकगारपरआचुकीहैं।अपनेजिंदाहोनेकासबूतदीजिए।निकलोबाहरमकानोंसे,जंगलड़ोबेईमानोंसे।'

ग्वालियरभीमआर्मीकेपदाधिकारीनेकहा-सदस्यनहीं,परसंगठनसेजुड़ीहैं

ग्‍वालियरकेभीमआर्मीकेजिलावरिष्ठउपाध्यक्षआजादप्रीतमसिंहनेकहाकिडॉ.राजकुमारीबंसलभीमआर्मीकासीधाकोईताल्लुकनहींहै,लेकिनवेहमसेजुड़ीहुईहैं।हमारीबहनहैं।मैंव्यक्तिगतरूपसेपरिचितहूं।यदिप्रशासनयापुलिसकोईकार्रवाईकरताहैंतोहमउनकेसाथखड़ेहोंगे।

इसेभीपढ़ें: HathrasCaseNews:हाथरसजानेकासंतोषजनकजवाबनहींदेपारहीहैंडॉ.बंसल,अलग-अलगबयानोंसेगुत्थीउलझी

डिंडौरीमेंउपस्थितिदर्जकरवानेकेबादड्यूटीसेगायबरहीडॉ.राजकुमारी

जबलपुर।मेडिकलप्रशासनसेविधिवतअनुमतिलिएबगैरजबलपुरसेहाथरसजानेवालींडॉ.राजकुमारीबंसलकेखिलाफमध्यप्रदेशकेडिंडौरीमेंभीकार्रवाईहोचुकीहै।डॉ.राजकुमारी2013मेंडिंडौरीजिलाअस्पतालमेंबतौरचिकित्सापदाधिकारीपदस्थहुईथीं।वहांवहछहसितंबर2013सेहीवेबिनाकिसीसूचनाऔरअनुमतिकेड्यूटीसेगायबरहीं।

विभागद्वाराकईबारपत्राचारकेबावजूदजवाबनहींदेनेपरउनकेखिलाफअनुशासनात्मककार्रवाईकीअनुशंसाकीगईथी।हालांकिवर्ष2014मेंडॉ.राजकुमारीनेत्यागपत्रदेदियाथा।डॉ.राजकुमारीनेजिलाअस्पताल,जबलपुरमेंभीकरीबचारमाहसेवाएंदीथीं।उसकेबादफोरेंसिकमेडिसिनमेंस्नातकोत्तरकीपढ़ाईकेलिएउन्होंनेमेडिकलकॉलेज,इंदौरमेंदाखिलालेलियाथा।

फिरएकनिजीमहाविद्यालयमेंनौकरीकीऔरउसकेबादमेडिकलकॉलेज,जबलपुरकेफार्मोकोलॉजीविभागमेंडेमॉन्स्ट्रेटरपदपरसेवाएंशुरूकीं।यहांभीबगैरबताएहाथरसचलीगई।हालांकिमेडिकलडीनडॉ.प्रदीपकसारकाकहनाहैकिइससेपहलेउनकेखिलाफऐसीशिकायतसामनेनहींआईहै।