जागरणसंवाददाता,रोहतक:धानउत्पादनकिसानोंकोमंडीमेंअच्छेभावमिलरहेहै,जिससेकिसानोंकेचेहरेखिलउठेहैं।नईअनाजमंडीमें1121व1718किस्मोंके3700से4000रुपयेप्रतिक्विंटलतकपहुंचगएहैं।धानकीइनकिस्मोंकेबेहतरदाममिलनेसेमंडीमेंआनेवालेकिसानोंकेचेहरेखिलनेलगेहैं।हालांकिदीपावलीकेपासकुछदिनोंधानकीसरकारीखरीदमेंरुकावटकेचलतेकिसानोंकाेकुददिनमायूसहोनापड़ा,लेकिनअबकिसानोंमेंखुशीदेखीजारहीहै।

फरमाणागांवनिवासीकिसानसुनीलववीरेंद्रऔरबोहरगांवनिवासीकिसानधर्मबीरनेबतायाकिपिछलेसालधानकीफसलकेदामकमथेलेकिनइससालदामअच्छेमिलनेसेकिसानोंकामुनाफाबढ़रहाहै।इतनाहीनहीं1509वमुच्छलकिस्मकेभावमेंभीकाफीतेजीआईहै।वहीं,कुछजानकारोंकायहभीकहनाहैकिकाफीकिसानोंनेअभीघरपरधानकीफसलकोरोकाहुआहै।वेअच्छेदामकेइंतजारमेंथे,जोअबमंडीमेंधानलेकरपहुंचरहेहैं।

हालांकिअनाजमंडीमेंपीआरधानकेभावकमभीहुएहैं।पीआरकिस्मकेदामकममिलनेसेकिसाननाखुशभीदेखेजारहेहैं,लेकिनरोहतकमेंलगभग10प्रतिशतकीपीआरधानलगाईहुईथी।किसानोंकाकहनाहैकिशुरूआतमेंतोपीआरधानसरकारीभावसेभीज्यादाभावमेंखरीदागया,लेकिनअबइसकेकमदाममिलरहेहैं।उधर,कृषिएवंकिसानकल्याणविभागकेअधिकारियोंकाकहनाहैकिजिलेमेंइसबार67,127हेक्टेयरमेंधानकीफसललगाईगईहै।

धानकेअच्छेमिलरहेभाव

नईअनाजमंडीएसोसिएशनप्रधानमुकेशनेकहाकिमंडियोंमेंधानकासीजनचलरहाहै।नईअनाजमंडीमेंधानकेअच्छेभावकिसानोंकोमिलरहेहैं।बासमतीधानकेअलावा1121व1718धानकीकिस्मेभी3700रुपयेसेचारहजाररुपयेप्रतिक्विंटलतकबिकरहाहै।इसीतरहसे1509वमुच्छलकेभावमेंभीतेजीहै।इसबारसीजनमेंकाफीअच्छेभावकिसानोंकोमिलेहैं।अभीसीजनचलरहाहै,इससेभीज्यादाभावतकधानबिकनेकीउम्मीदहै।धानउत्पादककिसानोंमेंइसबारखुशीबनीहुईहै।

--जिलेमेंइसबार67,127हेक्टेयरमेंधानकीफसललगाईगईहै।जिसमेंपीआरकेवल10प्रतिशतहीहै।रोहतकमें80से90प्रतिशतक्षेत्रमेंबासमति,1121,1718वअन्यकिस्मोंकीधानलगाईगई।धानकेभावअच्छेमिलरहेहैं,जिससेकिसानोंकाफायदाबढ़ेगा।

-डा.इंद्रसिंह,जिलाकृषिउपनिदेशक,रोहतक।