विनीतमिश्र,मैनपुरी:करहलक्षेत्रकेहविलियागांवकीमाटीकीतासीरहीकुछऐसीहै।यहांजोपढ़गया,वोआगेबढ़गया।औरजोआगेबढ़गया,उसनेऔरोंकोकामयाबीकेमुकामतकपहुंचानेमेंकोईकसरनहींछोड़ी।शिक्षाऔरसंसाधनसेसक्षमहुएलोगोंकीप्रेरणाकानतीजायेहैकियहांखुशहालीकीबहारहै।घर-घरहोनहारहैं।हरपरिवारमेंकोईडॉक्टर,शिक्षकयाइंजीनियरहै।

करहलब्लॉककायेगांवदेखनेमेंबहुतछोटाहै।यहांकीआबादीमहज200कीहै।गांवमेंकुलमकान21हैं।अमूमनयहांपरभलेहीखामोशीरहतीहै,मगरयहांकीशौहरतदूर-दूरतकहै।यहांखेतोंमेंफसलेंलहलहातीहैंतोअपनेलाड़लोंकीकामयाबीसेघर-घरमेंबहारहै।खुशहालीकीइसखेतीकेलिएपौधमेंहीजुनूनकीखादबिखेरनीशुरूकरदीजातीहै।इसकामुख्यकारणयहांपररोजगारकेकोईअन्यसंसाधननहोनाभीहै।

आजादीकेचारसालबाद1951मेंगांवमेंसबसेपहलेसरकारीनौकरीदलवीर¨सहनेजूनियरहाईस्कूलबमटापुरमेंशिक्षकबनकरशुरूकीथी।तबपूरेकरहलक्षेत्रमेंकेवलबमटापुरमेंहीमिडिलस्कूलहोताथा।करीब93वर्षीयदलवीरसिंहबतातेहैंकिगांवकेबच्चोंकोस्कूलमेंदाखिलाकरानाऔरउन्हेंअच्छीसेअच्छीशिक्षादेनाउनकामकसदथा।इसीलिएगांवकेलोगउन्हेंमुंशीजीकेनामसेपुकारनेलगे।दलवीर¨सहकोदेखगांवमेंशिक्षकबननेकीहोड़सीचलगई।फिरएककेबादएकपढ़ाकूयुवाशिक्षकबनतेगए।

वर्ष2001मेंसंजीवयादवनेडॉक्टरबनकरगांवमेंकामयाबीकीनईराहबनादी।डॉक्टरदपंतीइटावामेंअपनाक्लीनिकचलातेहैं।संजीवकोदेखगांवकेयुवाओंमेंडॉक्टरबननेकीतमन्नाजागीऔरसपनेकोसाकारकरनेकेलिएजुटभीगए।दलवीर¨सहकेशिष्यरहेओमप्रकाशयादवकरहलकेजैनइंटरकॉलेजमेंकेमिस्ट्रीकेलेक्चररबनगए।ओमप्रकाशनेभीअपनेगुरुमुंशीजीकेसिद्धांतकोअपनायाऔरगांवकेयुवाओंकोउच्चशिक्षाकेलिएप्रेरितकरतेरहे।ओमप्रकाशकेदोबेटेनीरजयादवआगराकेएसएनमेडिकलकॉलेजमेंबालरोगविशेषज्ञहैंतोहिमांशुइसीकॉलेजमेंनेत्रसर्जन।दोनोंकीपत्नीडॉ.प्रेरणाऔरडॉ.पूनमभीइसीमेडिकलकॉलेजमेंहैं।बदलतेदौरमेंइंजीनिय¨रगकाक्रेजबढ़ातोगांवकेयुवाइंजीनियरभीबने।सुरेंद्रसिंहरेलवेमेंइंजीनियरहैंतोतीनअन्ययुवादिल्ली-नोयडामेंविभिन्नकंपनियोंमेंइंजीनियरहैं।21परिवारोंवालेहविलियागांवमेंवर्तमानमें12डॉक्टर,15शिक्षकऔरआधादर्जनइंजीनियरहैं।गांवमें40लोगसरकारीसेवामेंहैं।

गांवमेंरहनेवालेअनुरागयादवसीबीएसईमेंउच्चपदपरआसीनहैं।गांवकेधर्मेंद्रबतातेहैंकिअनुरागयादवनेभीगांवकेयुवाओंकोपढ़नेऔरफिरकुछबननेकेलिएप्रेरितकिया।अनुरागहीनहीं,जोभीआगेबढ़ा,वहअपनेसेछोटोंकोपढ़ाईकरअपनामुकामहासिलकरनेकेलिएप्रेरितकरतारहा।

आगराऔरनोएडामेंरहकरपढ़ाई::हविलियागांवकेज्यादातरयुवकआगरायानोएडामेंरहकरपढ़ाईकरतेहैं।खेतीकरबच्चोंकीपढ़ाईकाखर्चउठानेवालेअभिभावकोंकोइसबातकासंतोषहैकिउनकेबच्चोंमेंकुछबननेकीललकऔरजिदहै।एक-दूसरेकोदेखयुवाअच्छीनौकरीकरनेकासपनादेखतेहैं।

बाबारामनाथनेभीभीबढ़ायामान::भाकियूसेविधायकरहेबाबारामनाथनेभीहविलियाकोपहचानदी।पूरेगांवमेंबुजुर्गपूर्वविधायककासम्मानहै।विधायकरहनेकेसाथहीवहबसपासेएमएलसीभीरहे।

क्याकहतेहैंग्रामीण

युवाओंमेंकुछकरगुजरनेकीललकहै।यहीकारणहैकियहांकेयुवाडॉक्टरऔरइंजीनियरबनतेगए।मेरेदोबेटेऔरदोबहूभीडॉक्टरहैं।उनकेडॉक्टरहोनेसेगांवकेबीमारलोगोंकोउपचारभीबेहतरमिलजाताहै।

ओमप्रकाशयादव,सेवानिवृत्तलेक्चरर।

येखुशीकीबातहैकिजिलेमेंइसछोटेसेगांवमेंपलेयुवाडॉक्टरऔरइंजीनियरबनरहेहैं।गांवमेंसबसेपहलेमैंनेआजादीकेबादसरकारीनौकरीकीथी।युवाओंकोअच्छेपदोंपरजानेकेलिएप्रेरितकिया।

दलवीर¨सहयादव,सेवानिवृत्तशिक्षक।

गांवकीखुशहालीकीइबारतयुवाओंनेलिखीहै।यहांकेज्यादातरयुवाअच्छेपदोंपरनौकरीकररहेहैं।उनकोदेखबच्चोंमेंभीबड़ेहोकरकुछकरगुजरनेकाजज्बाआताहैऔरवहभीपढ़ाईकीओरप्रेरितहोरहेहैं।

धर्मेंद्रयादव,ग्रामीण।

बड़ोंनेहमाराहौसलाबढ़ायाऔरउसीकायेनतीजारहाकियुवाआगेबढ़तेगए।आजगांवमेंआबादीकेहिसाबसेसबसेअधिकडॉक्टर,इंजीनियरऔरशिक्षकहैं।येसबहमारेलिएप्रेरणास्त्रोतहैं।

उपेंद्रयादव,स्वास्थ्यकर्मी।

By Doherty