जागरणसंवाददाता,फर्रुखाबाद:माध्यमिकविद्यालयोंमेंशिक्षकोंनेकक्षा9से12तककेछात्रोंकीऑनलाइनक्लासेजलेनाशुरूकरदीहैं।हालांकिअभीनतोसिलेबसतयहुआहैऔरनहीकिताबेंबाजारमेंआईहैं।अध्यापकपुरानेसिलेबसकेआधारपरहीबच्चोंकोपढ़ारहेहैं।शिक्षकई-ज्ञानगंगावयू-ट्यूबचैनलपरपड़ीपाठ्यसामग्रीकापढ़ानेकेदौरानप्रयोगकररहेहैं।उनकाकहनाहैकिएकअप्रैलसेनयासत्रप्रारंभहोगयाहैऔरइसबारभीपुरानासिलेबसहीरहनेकीउम्मीदहै।लिकपरकक्षानौसे12तककीकिताबेंउपलब्ध

'चित्राप्रकाशनवराजीवपब्लिकेशननेऑनलाइनलिकभेजरखेहैं,जिन्हेंछात्रोंकोव्हाट्सएपपरभेजरहेहैं।इसलिकपरकक्षानौसे12तककीसभीकिताबेंउपलब्धहैं।सिलेबसमेंअगरबदलावहुआभीतोविज्ञानवगणितविषयपढ़नेमेंछात्रोंकोदिक्कतआएगी।अन्यविषयोंमेंछात्रोंकोज्यादापरेशानीनहींहोगी।ऑनलाइनपढ़ाईमेंइंटरनेटसमस्याबनाहैं।वहीं40फीसदछात्रोंकेपासहीस्मार्टफोनहैं।'

-गौरवदुबे,शिक्षकएसएनएमइंटरकॉलेजकायमगंज।

पुरानीकिताबोंसेबच्चोंकोपढ़ारहे

'पिछलेसालवालासिलेबसमानकरहीबच्चोंकोऑनलाइनपढ़ारहेहैं।सिलेबसअगरबदलनाहोतातोमाध्यमिकशिक्षापरिषदसूचनादेदेता।संभवत:पुरानासिलेबसही2021-22मेंभीरहेगा।पुरानीकिताबोंसेबच्चोंकोव्हाट्सएपपरपढ़ारहेहैं।ई-ज्ञानगंगावयू-ट्यूबपरभीपाठ्यसामग्रीपढ़ीहै,जिनकेबारेमेंकक्षानौसे12तककेबच्चोंकोबतारहेहैं।'

-देवेंद्रयादव,शिक्षकजनताइंटरकॉलेजरशीदाबाद।

विद्यार्थियोंकोऑनलाइनपढ़नेकेलिएकररहेप्रेरित

'पुरानीकिताबोंवपुरानेसिलेबससेफिलहालछात्रोंकोऑनलाइनपढ़ारहेहैं।अभीकोईनएदिशा-निर्देशमाध्यमिकशिक्षापरिषदसेमिलेनहींहैं।कक्षा10मेंअंग्रेजीकासिलेबसकुछबदलाहै,जिससेछात्रोंकोपढ़नेमेंसमस्याहोरहीहै।विद्यार्थियोंकोयू-ट्यूब,ई-ज्ञानगंगावस्वयंप्रभाचैनलकेमाध्यमसेपढ़नेकेलिएभीप्रेरितकरतेहैं।'

-यशवंतसिंह,शिक्षकरस्तोगीइंटरकॉलेजफर्रुखाबाद।

ई-ज्ञानगंगावयू-ट्यूबपरकिताबेंउपलब्ध

'शासनकेआदेशपरशिक्षकबच्चोंकोऑनलाइनपढ़ारहेहैं।अभीतककिसीभीशिक्षकनेपढ़ाईकेदौरानकिसीभीसमस्याकीशिकायतनहींकीहै।माध्यमिकशिक्षामेंअधिकतरसिलेबसपुरानाहीरहताहै।किताबेंई-ज्ञानगंगावयू-ट्यूबआदिएपपरऑनलाइनउपलब्धहैं,जिन्हेंबच्चेघरबैठेखोलसकतेहैं।'

-एपीसिंह,जिलाविद्यालयनिरीक्षक।

By Duffy