गोरखपुर,जेएनएन।पूर्वोत्तररेलवेकेकरीब20हजारकर्मचारियोंकीनौकरीपरसंकटकेबादलमंडरारहेहैं।रेलवेबोर्डकेदिशा-निर्देशपररेलवेप्रशासनने30वर्षतककीनौकरीया55वर्षकीउम्रपूरीकरनेवालेकर्मचारियोंकीसूचीलगभगतैयारकरलीहै।समयसेपहलेसेवानिवृत्तकरनेकेलिएअधिकारियोंनेसूचीकेआधारपरअपनीसमीक्षाभीशुरूकरदीहै।रेलवेबोर्डनेभारतीयरेलवेकेसभीजोनलकार्यालयोंसे30सितंबरतककर्मचारियोंकीसूचीमांगीथी।पूर्वोत्तररेलवेकेइज्ज्तनगरमंडलनेतोवाणिज्यविभागके17कर्मियोंकीसूचीसंबंधितअधिकारीकोसौंपभीदीहै।

पूर्वमध्यरेलवेमेंशुरूहुईकार्रवाई

पूर्वमध्यरेलवेमेंतोकर्मचारियोंकेखिलाफकार्रवाईकीप्रक्रियाभीशुरूहोचुकीहै।जानकारोंकेअनुसारसमीक्षामेंसिर्फसेवाकीअवधिऔरउम्रहीनहींदेखीजाएगी,बल्किवार्षिकरिपोर्टकेआधारपरकर्मचारियोंकेआचरणऔरव्यवहारकोभीपरखाजाएगा।रेलवेकेबनाएगएमानकमेंसेवाऔरउम्रमेंसेकोईएकभीआगयातोकर्मचारीकीसमीक्षाशुरूहोजाएगी।सेवाऔरउम्रकेअलावाकर्मचारीकीवार्षिकगोपनीयरिपोर्टभीदेखीजाएगी।अगरकर्मचारीकाकार्यव्यवहाररहाहैतोउसेआगेसेवाकामौकामिलजाएगा।लेकिनअगरकार्यव्यवहारदुरुस्तनहींहुआतोजबरनरिटायरमेंटतयहै।पूर्वोत्तररेलवेमेंलगभग50हजारकर्मचारीकार्यरतहैं।

कर्मचारियोंमेंदहशत,संगठनोंमेंआक्रोश

रेलवेकीइसप्रक्रियाकोलेकरकर्मचारियोंमेंदहशतहै।कर्मचारीसंगठनभीआक्रोशितहैं।एनईरेलवेमजदूरयूनियन(नरमू)केमहामंत्रीकेएलगुप्तकहतेहैंकिसरकारसमीक्षाकेनामपरकर्मचारियोंकीछंटनीकररहीहै।एकतोपहलेसेहीकर्मचारियोंकीकमीहै।हजारोंपदरिक्तहैं।ऊपरसेजोकर्मीतैनातहैंउन्हेंभीबाहरकारास्तादिखानेकीतैयारीहै।पूर्वोत्तररेलवेकर्मचारीसंघ(पीआरकेएस)केप्रवक्ताएकेसिंहकहतेहैंकियहव्यवस्थानीचेनहींऊपरसेशुरूहोनीचाहिए।सरकारकोअपनेमंत्रियोंवअधिकारियोंकीउम्रवप्रदर्शननहींदिखरही।कर्मचारियोंहीअसहायनजरआरहेहैं।यहनियमनयानहींहै,लेकिनरेलमंत्रालयनेहथियारकेरूपमेंइसकाप्रयोगशुरूकरदियाहै।

दफ्तरोंसेगायबरहनेवालेकर्मियोंकीखैरनहीं

रेलवेमेंऐसेभीकर्मचारीहैंजोदफ्तरोंसेगायबरहतेहैं।कुछसिर्फहाजिरीलगानेपहुंचतेहैं।कुछबिनापहुंचेवेतनउठातेहैं।यहीकारणहैकिरेलवेकापूरासिस्टमऑनलाइनहोनेकेबादभीआजतकदफ्तरोंमेंहाजिरीकेलिएबायोमीट्रिकमशीननहींलगपाई।इसकेलिएनअधिकारीकीइच्छाशक्तिदिखतीहैऔरनकर्मचारीचाहतेहैं।

आवधिकसेवासमीक्षामूलनियमोंकेअंतर्गतप्रशासनिकमजबूतीकेलिएकीजातीहै।पिछलेवर्षकीतरहइसवर्षभीसमीक्षाहोनीहै।यहएकसामान्यप्रक्रियाहै।-पंकजकुमारसिंह,मुख्यजनसंपर्कअधिकारी-पूर्वोत्तररेलवे।