इंजीनियरिंगकीनौकरीकेबजायआशुतोषनेगोपालनकोदीतवज्जो

जागरणसंवाददाता,इटावा:कानपुरकेपीएसआइटीइंस्टीट्यूटसेसिविलइंजीनियरिंगकीडिग्रीहासिलकरनेवालेग्रामआसईनिवासीआशुतोषदीक्षितकोनौकरीकरनारासनहींआया।उन्होंनेअपनेगांवमेंहीनंदिनीगोशालाकीशुरुआतकीऔरदूध,घी,गोबरकेउत्पादतैयारकरनाशुरूकरदिया।राजस्थानकेबीकानेरसेचारसाहिवालगायलाकरव्यवसायकीशुरूआतकी।धीरे-धीरेव्यवसायबढ़ाया,आजवेछोटी-बड़ी70गायोंकेमालिकहैं।सालानाकरीब12लाखरुपयेकीकमाईकररहेहैं।

बढ़पुराब्लाककेबीहड़क्षेत्रकेगांवआसईमेंरहनेवालेआशुतोषदीक्षितनेवर्ष2017मेंसिविलइंजीनियरिंगकीडिग्रीलीथी।आशुतोषनेबैंकसेऋणलेकरराजस्थानकेबीकानेरसेचारसाहिवालगायखरीदींऔरअपनाव्यवसायशुरूकरदिया।व्यवसायइतनाबढ़ाकिपांचसालकेअंदरगोशालामें70गायोंकाकुनबाकरलिया।इनगायोंकेदूधकोवेकांचकीबोतलमेंपैककरकेशहरमेंसप्लाईकरतेहैं।घीबनायाजाताहै।गायोंकोजंगलमेंहीचरानेकेलिएभेजतेहैं।

साहिवालनस्लकोदीप्राथमिकता

आशुतोषदीक्षितबतातेहैंकिजनपदकेआसपाससाहिवालगायनहींपाईजातीहै।यहगायराजस्थानवहरियाणामेंमिलतीहै।चंदरोजपहलेवहबीकानेरसे12गायेंलेकरआएहैं।एकगायरोजाना12लीटरदूधदेतीहै।जिसेवह50रुपयाप्रतिलीटरकेहिसाबसेबेचतेहैं।लोफैटकादूधहोनेकेकारणइसगायकेदूधमेंकोलेस्ट्रालकीसमस्यानहींहोतीहै।उनकाघीभीखूबबिकताहै।गायकेगोबरसेलकड़ीऔरखादकानिर्माणकरतेहैं।लकड़ीश्मशानघाटमेंइस्तेमालहोजातीहै।उन्होंनेछहलोगोंकोरोजगारभीदियाहै।

By Douglas