मुजफ्फरनगर,संजीवतोमर।शिक्षाहैअनमोलरतन,पढ़नेकासबकरोजतन।इसनारेसेप्रेरणालेतेहुएस्वयंसहायतासमूहकीसखियोंनेअज्ञानताकाअंधेरादूरकरनेकीठानीहै।गांवमेंप्रौढ़शिक्षाकेंद्रस्थापितकिएजारहेहैं,जहांसमूहकीमहिलाएंअशिक्षितमहिलाओंकोपढ़ारहीहैं।जिलेमें100सेअधिकमहिलासमूहइसमेंमहतीभूमिकानिभारहेहैं।घर-घरजाकरमहिलाओंकोशिक्षाकामहत्वभीबतायाजारहाहै।

स्वयंसहायतासमूहकीमहिलाएंव्यावसायिकगतिविधियांबढ़ानेकेसाथसमाजहितकेकार्योंमेंभीसक्रियभूमिकानिभारहीहैं।समूहसखीशिक्षाकाउजियाराफैलानेकाकार्यभीकररहीहैं।प्रशासनिकसहयोगसेबीतेदिनोंजिलेमेंहुएसर्वेमें34हजारऐसीमहिलाओंकोचिह्नितकियागया,जोअपनानामभीनहींलिखसकतीहैं।इनमहिलाओंकोसाक्षरकरनेकीजिम्मेदारीसमूहसेजुड़ीपढ़ी-लिखीमहिलाओंनेलीहै।100सेअधिकमहिलाएंगांवोंमेंअशिक्षितमहिलाओंकोपढ़ारहीहैं।498ग्रामपंचायतोंमेंइसकीकार्ययोजनातैयारकीगईहै।गांवोंकेआंगनबाड़ीकेंद्रोंवग्रामपंचायतभवनोंमेंप्रौढ़शिक्षाकेंद्रखोलेजारहेहैं।यहांमहिलाओंकोशिक्षितकियाजारहाहै।

राष्ट्रीयआजीविकामिशनकासहयोग

पढ़ानेऔरपढ़नेवालीमहिलाओंकाराष्ट्रीयआजीविकामिशनकीओरसेसहयोगकियाजारहाहै।महिलाओंकोशासनकीयोजनाओंकालाभदेनेकीकार्ययोजनाबनाईहै।पढ़ानेवालीमहिलाओंकोमिशनकीओरसेप्रशिक्षणभीदियाजारहाहै।

महिलाओंकापढ़ा-लिखाहोनाबेहदजरूरीहै।जिलेमें4200स्वयंसहायतासमूहकार्यकररहेहैं।शासनकीयोजनाकापूर्णलाभमहिलाएंतभीलेपाएंगीजबवेपढ़ी-लिखीहोंगी।इसीउद्देश्यसेमहिलाओंकोसाक्षरकरनेकेलिएकेंद्रस्थापितकिएजारहेहैं।समूहसखियोंकाकार्यसराहनीयहै।

-आलोकयादव,सीडीओ

By Ellis