सीतापुर:केंद्रीयटीमइसीमहीनेकिसीभीदिनशहरमेंस्वच्छतासर्वेक्षणकरनेआसकतीहै।इससर्वेक्षणमेंतीनहजारअंकनगरपालिकापरिषदकार्यालयकेइंतजामोंपरमिलनेहैं।नगरपालिकाकेप्रबंधकैसेहैं।इसकीहमनेपड़तालकी,जिसकीतस्वीरआपकेसामनेहै।

स्थान:नगरपालिकापरिषदकार्यालयसीतापुर।

समय:दोपहरके12.20बजे।कार्यालयपरिसरमेंबेतरतीबतरीकेसेवाहनखड़ेथे।इसमेंबाइक,कारवअन्यवाहनथे।कंट्रोलरूममेंतैनातकर्मचारीसचिनलापताथा।यहांबैठेअन्यव्यक्तिनेआपनानामराजेशबतायाऔरकहाकिवहस्वच्छभारतमिशनदेखतेहैं।कंट्रोलरूमकेपड़ोसआडिटररूमहै।इसमेंआडिटरसुरेशवर्माकेबैठनेकाअंदाजहीअलगथा।कानपरमोबाइलफोनलगाएथे,दूसरेहाथमेंगिलासमेंजूसऔरसामनेपालीथिनमेंपानरखेथे।पूछनेपरइन्होंनेकोईजवाबनहींदियाऔरफोनपरहीव्यस्तथे।पूछनेपरकर्मचारीदिनेशकुमारनेबतायाकिअधिशासीअधिकारीअबतककार्यालयनहींआएहैं।

स्टोरकीपरमोतीलालदीक्षितभीअपनीसीटसेगायबथे।नगरपालिकामेंजन्म-मृत्युप्रमाणपत्रकाकामललितश्रीवास्तवदेखतेहैं।ललितवपेंशनलिपिकसुनीलमिश्रएककमरेमेंबैठतेहैं।ललितश्रीवास्तवनेबतायाकिपिछलेमहीनेफरवरीमें64जन्म,इतनेहीमृत्युप्रमाणपत्रबनाएगएहैं।मार्चमेंऔर43आवेदनआएहैं।पेंशनलिपिकसुनीलमिश्रनेबतायाकि14कर्मियोंकीपेंशनलंबितहै।येसभीफाइलेंआयुक्तवउपनिदेशकस्तरपरहैं।इनपेंशनवालेकर्मियोंमेंमायादेवी,शारदा,छोटेलाल,श्रीकृष्ण,हरिपाल,बुद्धाआदिहैं।

नईबिल्डिंगमेंबैठेप्रधानलिपिकमहेशगुप्तानेबतायाकिअप्रैल2020सेअबतककुल14कार्मिकोंकीमृत्युहोचुकीहै।इनमेंतीनमृतककार्मिककेआश्रितोंकोकुछकारणोंसेअबतकनौकरीनहींमिलपाईहै।बतायाकि11जून2021कोदिवंगतहुएकुलदीपवाजपेयीकीबेटीकोभीमृतकआश्रितमेंनौकरीमिलगईहै।

18सालसेनयाकरनिर्धारणनहीं:

करअनुभागमेंअधीक्षकहरीशचंद्रबैठेमिले।पूछनेपरपताचलाकिअप्रैलसेफरवरीतकनगरपालिकाकोतीनकरोड़58लाख26हजाररुपयेकीआयहुईहै।वहीं,22,500आवासीयभवनोंसेवर्षभरमेंपालिकाको1.27करोड़एकहजाररुपये,जलकरकेतौरपर1.28करोड़73हजाररुपयेमिलतेहैं।अन्यमदजैसेनामांकन,लाइसेंसआदिमें1.02करोड़52हजाररुपयेकीआयहोतीहै।व्यावसायिकभवन1,517हैं।इनसेभीडेढ़करोड़रुपयेकीटैक्सकेतौरपरकमाईहोतीहै।बतायागयाकिवर्ष2004मेंकरनिर्धारणहुआथा।इसकेबाद2009मेंबोर्डनेकरमें20प्रतिशतवृद्धिकरदीथी।अब2019मेंबोर्डनेफिरसेकरनिर्धारणकीअनुमतिदीहै।जिसपरकामचलरहाहै।करअधीक्षककोउम्मीदहैकिजबपुनरीक्षितकरप्रभावीहोगातोनगरपालिकाकीआयमेंदोगुनेसेअधिकवृद्धिहोगी।

औरट्रैक्टरकोभीलगायाठिकाने:

निर्माणाधीनभवनकेसामनेट्रैक्टरखड़ाहै।यहांमौजूदठेकाकर्मीसंजयनेबतायाकिट्रैक्टरखराबनहींहै।इसेकबाड़बनायाजारहाहै।इसमेंआगेकेटायरबदलजाएऔरनईबैट्रीलगजाए,बसइतनाहीकामहै।लेकिन,यहकईमहीनेसेखड़ा-खड़ाकबाड़मेंतब्दीलहोरहाहै।नगरपालिकामेंकीमतीवाहनोंकीदेखरेखभीअच्छीतरहसेनहींहोतीहै।

यहांतो'अपनों'काहीदर्दसुननेवालाकोईनहीं:

दोपहरके1.19बजेथे।नगरपालिकाकीनईबिल्डिंगकेदूसरेतलपरजानेकोजीनेपरचढ़रहींमुन्नीदेवीमिलगईं।पूछनेपरबतायाकिवहलालकुर्तीकीहैं।नगरपालिकामेंसफाईकर्मीहैं।बहूसीढि़योंसेगिरगईथी,जिसकाइलाजकरानाहै।भविष्यनिधि(पीएफ)सेपैसानिकालनाचाहतीहै।यहांतैनातकर्मीराजेशनेहमसेआधारनंबरमांगाहै,उसेदेनेकेलिएवहआजसातवींबारनगरपालिकाआईहैं।वैसेउनकीड्यूटीपुलिसलाइनमेंरहतीहै।जब-जबआतेहैंकर्मीराजेशमिलतेहीनहींहैं।वहपरेशानहैं।

इसीबीचइस्माइलपुरकेविनोदमौर्यजीनेपरचढ़तेदूसरेतलपहुंचरहेथे।रोकनेपरइन्होंनेबताया,बट्सगंजकीकान्हागोशालामेंसफाईकर्मीहैं।छहमहीनेसेपगारनहींमिलीहै।इसीचक्करमेंवहचारबारनगरपालिकाआचुकेहैं।गोशालाकेसुपरवाइजरखोजेनहींमिलतेहैंऔरजबमिलतेहैंतोपगारदेनेकेबजायटालदेतेहैं।विनोदमौर्यकेबतायाकिउनकीतरहकोड़रीकेअंकितकोभीकईमहीनेसेपगारनहींमिलीहै।

By Ellis