नईदिल्ली,[संतोषकुमारसिंह]।राजधानीमेंकोरोनाकेमामलेबेशककमहोगएहैंऔरअनलाककीप्रक्रियाशुरूहोगईहै।बावजूदइसकेदूसरेराज्योंसेआक्सीजनआनेकासिलसिलाअभीजारीहै।सोमवाररातकोओखलारेलवेस्टेशनपरराजकोटसे73.99टनआक्सीजनलेकरआक्सीजनएक्सप्रेसपहुंची।सबसेखासबातयहहैकिरेलवेनेदेशमेंसबसेज्यादाआक्सीजनदिल्लीमेंपहुंचाईहै।देशके15राज्योंमेंअबतकलगभग27हजारटनआक्सीजनकीआपूर्तिकीगई,इसमेंदिल्लीकीहिस्सेदारी22फीसदसेज्यादाहै।

27अप्रैलकोपहलीआक्सीजनएक्सप्रेसरायगढ़केजिंदलइस्पातसंयंत्रसे70टनआक्सीजनलेकरदिल्लीकैंटपहुंचीथी।इसकेबादसेबंगालकेदुर्गापुर,गुजरातकेहापावराजकोट,ओडिशाकेअंगुल,झारखंडकेटाटानगरसहितकईस्थानोंसेआक्सीजनलेकरदिल्लीकेअलग-अलगस्टेशनोंपरआक्सीजनएक्सप्रेसपहुंचरहीहै।उत्तररेलवेकेमहाप्रबंधकआशुतोषगंगलकाकहनाहैकिदिल्लीसहितइसकेआसपासकेशहरों(दिल्लीमंडलमेंआनेवाले)मेंलगभग8900टनआक्सीजनपहुंचाईजाचुकीहै।इसमेंसे5900टलसेज्यादाआक्सीजनदिल्लीकोउपलब्धहुईहै।

राजधानीमेंकोरोनाकेमामलेबेशककमहोगएहैंऔरअनलाककीप्रक्रियाशुरूहोगईहै।बावजूदइसकेदूसरेराज्योंसेआक्सीजनआनेकासिलसिलाअभीजारीहै।सोमवाररातकोओखलारेलवेस्टेशनपरराजकोटसे73.99टनआक्सीजनलेकरआक्सीजनएक्सप्रेसपहुंची।आक्सीजनएक्सप्रेसकोगंतव्यपरपहुंचनेमेंज्यादासमयनहींलगेइसकेलिएजरूरतकेअनुसारग्रीनकारिडोरबनाएगए।

अप्रैलकेदूसरेपखवाड़ेमेंकोरोनाकेमामलेबढ़नेकेसाथहीराजधानीमेंआक्सीजनकीकमीशुरूहोगईथी।समयपरआक्सीजननहींमिलनेसेकईमरीजोंकीमौतहोगईथी।यहांकेबड़ेअस्पतालोंमेंभीआक्सीजनकीकमीसेकईमरीजोंकीजानचलीगई।इसस्थितिकोलेकरअदालतनेभीचिंताजताई।इसविकटसमयमेंदिल्लीमेंआक्सीजनकीउपलब्धतासुनिश्चितकरनेमेंरेलवेनेमहत्वपूर्णभूमिकानिभाईहै।आक्सीजनकीकिसराज्यकोकितनीआपूर्तिहुई।

राज्य-आक्सीजनआपूर्ति(टन)

By Doherty