जम्मू,सुरेंद्रसिंह: कोरोनामहामारीकेचलतेस्कूलस्कूलोंमेंपढ़ाईनहींहोपारहीहैक्योंकिस्कूलोंमेंबच्चेहीनहींआरहे।ऐसेमेंजोशिक्षकस्कूलजाभीरहेहैंतोवेस्कूलमेंबैठकरवापसआजातेहैं।लेकिनइससबकेबीचअखनूरकेरेहनालप्राइमरीस्कूलकेशिक्षकोंनेऐसाकारनामाकरदिखायाजोपूरेजम्मू-कश्मीरकेशिक्षकोंकेलिएएकमिसालबनगयाहै।

इसप्राइमरीस्कूलमेंभीशिक्षकरोजानाअपनीडयूटीपरजारहेहैंलेकिनबच्चोंकेनपहुंचनेकेचलतेवेदिनभरबैठकरवापसआजातेथे।रोजरोजकीइसीरूटीनसेशिक्षकभीउभनेलगेथे।इसकेबादपहलेतोउन्होंनेबारीबारीकुछबच्चोंकोस्कूलमेंबुलापढ़ानाशुरूकरदियाऔर जबउसकेबादभीसमयबचनेलगातोउसमेंउन्होंनेवहकारनामाकरदिखायाजोकिसीनेसोचाभीनहींथा।

एकदिनइसस्कूलकाएकशिक्षकअपनेसाथपेंटऔरब्रशलेकरपहुंचाऔरउसनेवहांदीवारोंपरतस्वीरेंबनानाशुरूकरदी।इसकेबादतोमानोस्कूलकाचेहराहीबदलनेलगा।देखतेहीदेखतेस्कूलकेसभीशिक्षकभीइसीकाममेंजुटगएऔरउन्होंनेस्कूलकीदीवारोंपरसंदेशोंकेसाथबच्चोंकेमनपंसदकार्टूनक्रेक्टरवबच्चोंकोस्वच्छता,फिटइंडिया,आओस्कूलचलेंहमजैसेप्रेरितअभियानोंकोआकर्षकतस्वीरोंकेसाथउकेरनाशुरूकरदिया।

शिक्षकोंकाऐसाकरतेदेखबच्चेभीखुदकोरोकनहींपाए।बच्चोंनेभीअपनेशिक्षकोंकेसाथमिलकरऐसीचित्रकारियांकीजिसकीकिसीनेकल्पनाभीनहींकीथी।आजतककिसीकागजपरभीतस्वीरनबनानेवालेबच्चोंनेभीशिक्षकोंकेहाथमेंचलतेब्रशदेखकरउनसेप्रेरणाली।इससमयस्कूलकीहरदीवार,हरकमरे,बरामदेमेंस्कूलकेशिक्षकोंवबच्चोंकेजज्बातोंकीमिसालपेशकररहेहैं।

किसीदीवारपरएक्योरियमबनाहैतोकिसीदीवारपरबच्चोंकोपेड़,पौधोंबारेजानकारीदेतेतस्वीर।कहींजंगलमेंपाएजानेवालेजानवरदिखरहेहैंतोकहींबदलतेमौसम।तस्वीरोंकेजरिएहीबच्चोंकोबेटीबचाओ,बेटीपढ़ाओकासंदेशभीइसस्कूलकीदीवारेंदेरहीहैं।

शिक्षानिदेशकभीनहींरोकपाईइनतस्वीरोंकोसांझाकरनेसे:प्राइमरीस्कूलरेहनाल,अखनूरकीइसआकर्षकपहलकोतस्वीरोंकेजरिएसाझाकरनेसेशिक्षानिदेशकजम्मूअनुराधागुप्ताभीखुदकोरोकनहींपाई।उन्होंनेअपनेट्विटरहेंडलपरस्कूलकीतस्वीरोंकोसामनेरखा।शिक्षानिदेशकअनुराधागुप्तानेस्कूलकेशिक्षकोंकीसराहनाकरतेहुएकहाकिउनकाकामसचमेंबहुतबढ़ियाहै।उन्होंनेसाबितकियाकिसच्चाशिक्षककभीबेकारनहींबैठता।उन्होंनेबच्चोंकोअपनेसाथशामिलकरवहकारनामाकरदिखायाहैजोबधाईकापात्रहै।

By Dodd