तारीख30जुलाई,रातके2बजकर31मिनटपरउत्तरीग्रिडफेलहुआ.रायपुरस्थितछत्तीसगढ़स्टेटपावरट्रांसमिशनकंपनीलिमिटेड(सीएसपीटीसीएल)केलोडडिस्पैचसेंटरमेंहलचलथी.मौकेपरमौजूदएक्जीक्यूटिवइंजीनियरनेअधिकारियोंकोग्रिडफेलहोनेकीसूचनादीऔरसुपरवाइजरीकंट्रोलऐंडडाटाएक्विजिशनसिस्टम(स्काडा)केजरिएनिगरानीबढ़ादी.

दिल्लीमेंमीटिंगकेलिएगएचीफइंजीनियरके.एस.मनोथियाकोतड़के6बजेइसकीजानकारीमिली.उन्होंनेफौरनकंट्रोलरूममेंफोनकरस्थितिकाजायजालिया.लेकिनअगलेदिन31जुलाईकोउत्तरी,उत्तरी-पूर्वीऔरपूर्वीग्रिडएकसाथफेलहोगए,जिससे21राज्योंकी60करोड़आबादीअंधेरेमेंडूबगई.लेकिनऊर्जाकेक्षेत्रमेंकरीब-करीबआत्मनिर्भरहोचुकाछत्तीसगढ़नसिर्फजगमगारहाथा,बल्किग्रिडमें300मेगावाटकायोगदानदेकरउसनेदेशकीबिजलीबहालीमेंभीयोगदानदिया.

मुख्यमंत्रीरमनसिंहकहतेहैं,''जोलोगराज्यकीउपलब्धियोंकासहीढंगसेआकलननहींकरते,उनकेलिए31जुलाईकीघटनाआंखेंखोलनेवालीहै.जबआधादेशअंधेरेमेंडूबाथा,तबछत्तीसगढ़उजालेकेद्वीपकीतरहजगमगारहाथा.''केंद्रसरकारनेग्रिडफेलहोनेकीघटनासेसबकलेतेहुएओवरड्रॉकरनेवालेराज्योंकेमुख्यसचिवकोजेलभेजनेजैसाकठोरप्रावधानबनानेकामनबनायाहै.लेकिन30-31जुलाईकीघटनाओंसेसाफहैकिराज्यसरकारेंसबकनहींलेतीं.

इंडियाटुडेकोदस्तावेजोंसेमिलीजानकारीकेमुताबिक,30जुलाईकीरातजबउत्तरीग्रिडफेलहुआ,तोछत्तीसगढ़अपनेपश्चिमीग्रिडकेकोटेमेंसे86मेगावाटकमबिजलीखींचरहाथा,जबकिउत्तरीग्रिडमेंपंजाबअपनेकोटेसे325,हरियाणा518,उत्तरप्रदेश861औरउत्तराखंड161मेगावाटअतिरिक्तबिजलीखींचरहाथा.

इसघटनाकेबावजूदराज्योंनेसबकनहींलियाऔरअगलेदिन31जुलाईकोदोपहरबादतीनग्रिडफेलहोगया.31जुलाईकोदोपहर1बजेछत्तीसगढ़कोटेसे52मेगावाटकमबिजलीलेरहाथा,जबकिहरियाणा,राजस्थान,यूपीऔरउत्तराखंडनिर्धारितसीमासेज्यादाबिजलीखींचरहेथे,जिससेग्रिडफेलहुआ.

छत्तीसगढ़परग्रिडफेलहोनेकाकोईअसरनहींपडऩेकीवजहवहांपूरेसिस्टमकीदुरुस्तनिगरानीप्रणालीहै.राज्यकेऊर्जासचिवअमनसिंहकहतेहैं,''ग्रिडफेलहुआतोहमनेग्रिडसेबिजलीखींचनेकीबजाए300मेगावाटउसमेंडाला.राज्यमेंमौसमअच्छाथा,सोहमेंलोडशेडिंगनहींकरनीपड़ी.''

रायपुरकेसीएसपीटीसीएलमुख्यालयमेंएकनिगरानीकक्षहै,जिसमेंदीवारनुमाएलसीडीलगाहैऔरदर्जनभरकंप्यूटरपरस्काडाकेजरिएकर्मचारी24घंटेनिगरानीकरतेहैं.इससिस्टमकेजरिएउत्पादन,तकनीकीगड़बड़ी,लाइनपर दबावऔरग्रिडसेलीजानेवालीबिजलीकीपूरीसूचनाहोतीहै,जोपल-पलबदलतीरहतीहै.इसतरहकासिस्टमऔरफ्रीक्वेंसीमीटरऊर्जाविभागसेजुड़ेसभीदफ्तरोंमेंलगीहै.रोजानाएकरिपोर्टमुख्यसचिवकोभेजीजातीहैऔरपूरीव्यवस्थापरसीधेमुख्यमंत्रीकीपैनीनजररहतीहै.

निगरानीकेबारेमेंसीएसपीटीसीएलकेप्रबंधनिदेशकजी.एस.कलसीकहतेहैं,''निगरानीकेलिएतीनशिफ्टमेंहमएक्जीक्यूटिवइंजीनियरस्तरकेअधिकारीकोतैनातकरतेहैं.''ग्रिडफेलहोनेजैसीस्थितिमेंकैसेआपूर्तिकोबहालकरनाहै,इसकेलिएमॉकड्रिलभीहोताहै.

वेकहतेहैं,''उत्पादन,लोडिंग,ग्रिडसेओवरड्रॉ-अंडरड्रॉ,फ्रीक्वेंसीमॉनिटर,कम्युनिकेशनमॉनिटरिंगऔरग्रिडअनुशासनकापालनकरनेपरराज्योंकाबिजलीविभागध्यानदेतोग्रिडफेलहोनेजैसीघटनाकभीभीनहींहोगी.''

बिजलीकेक्षेत्रमेंआत्मनिर्भरताहासिलकरनेकेबारेमेंरमनसिंहकीसोचहै,''बिजलीजैसीसुविधाकिसीभीराज्यकीसमृद्धिकाप्रतीकहोताहै.''इसीपरअमलकरतेहुएउन्होंनेकदमआगेबढ़ाया.सरकारनेइलेक्ट्रिसिटीऐक्ट-2003केतहतपावरप्लांटकेक्षेत्रमेंनिवेशकोआकर्षितकरनेकेलिएलाइसेंसकीप्रक्रियाकोखत्मकियाऔरभूमिअधिग्रहणसेलेकरराज्यस्तरसेमिलनेवालीअनुमतिकीप्रक्रियाकोतेजकिया.

निवेशकोंसे30फीसदीबिजलीलेनेकाहकसरकारकेपासहै.अमनसिंहकहतेहैं,''आजकीस्थितिमेंहमकहसकतेहैंकिछत्तीसगढ़देशकापावरहबबननेकीओरहैऔर12वींयोजनाकेआखिरतकहम20हजारमेगावाटबिजलीउत्पादनकरनेकीस्थितिमेंहोंगे,जबकि10हजारमेगावाटकीपरियोजनाकेंद्रसेकोयलेकीआपूर्तिसुनिश्चितनहींहोनेकेकारणलंबितहै.''

आजछत्तीसगढ़ऊर्जाकेक्षेत्रमेंबेहदतेजीसेबढ़रहाहै,तोइसकीवजहस्पष्टनीतिऔरनिवेशकाबेहतरमाहौलरहाहै.मार्च2001मेंराज्यकाउत्पादन1360मेगावाटथा,जबकिअभीराज्यकेपाससभीस्त्रोतोंसेकुल3431मेगावाटबिजलीउपलब्धहै.अबपीकसीजनमेंभीअधिकतममांग3300मेगावाटतकहोतीहै.

सरकारीआंकड़ोंकेमुताबिकछत्तीसगढ़मेंशहरीकरणमहजदोफीसदीहीहुआहै.राज्यमेंबिजलीकीअधिकताकीसंभवत:यहभीएकवजहहै,क्योंकिइसवजहसेकुलखपतऔरजरुरतकमहै.रमनसिंहकहतेहैं,''जबराज्यबनातोबिजलीकीप्रतिव्यक्तिखपत300यूनिटथी,लेकिनअब1560यूनिटहोगयाहै.

गुजरात,गोवाकेबादप्रतिव्यक्तिबिजलीखपतमेंहमतीसरेस्थानपरहै.अगलेछहमहीनेमेंहमाराखुदकाउत्पादन3424मेगावाटहोगा.देशमेंकहींभीइतनेबड़ेपैमानेपरउत्पादननहींहोरहा.हमनेइसक्षेत्रमें15-16हजारकरोड़रु.कानिवेशकियाहै.''

राज्यकेपूर्वमुख्यमंत्रीअजीतजोगीभीइंडियाटुडेसेकहतेहैं,''हमारासौभाग्यहैकिहमपावरसरप्लसस्टेटहैंऔरग्रिडफेलहोनेसेहमपरकोईअसरनहींपड़ा.'' राज्यकाबिजलीविभागअपनीसरप्लसबिजलीकीबैंकिंगभीकरताहै.कलसीकहतेहैं,''जबहमारेयहांबिजलीकीखपतकमहोतीहै,तोहमइसेजम्मू-कश्मीरऔरपंजाबकोदेतेहैंऔरजबवहांसरप्लसहोताहैतोवेबिजलीलौटादेतेहैं.इनराज्योंकेसाथबिजलीबैंकिंगप्रणालीसेहमेंलाभमिलताहैक्योंकिमौसमकेहिसाबहमारीजरूरतेंअलगहैं.''

राज्यपावरडिस्ट्रिब्यूशनकंपनीलि.केप्रबंधनिदेशकसुबोधकुमारसिंहकहतेहैं,''देशकेमेट्रोशहरोंमेंभीलोडशेडिंगआमबातहै,लेकिनछत्तीसगढ़जैसाराज्यअपनीअपनीक्षमतासेलोगोंको24घंटेबिजलीदेरहाहै,जोअनुकरणीयहै.''

मॉनिटरिंगकास्काडासिस्टमअन्यराज्योंमेंभीहै,लेकिनखुदकाउत्पादनअधिकनहींहोनेसेग्रिडपरलोडबढ़ातेहैंयाबिजलीकंपनियांलोडशेडिंगकरतीहै.तकनीकीतौरपरयहांखेलहोताहै.जबग्रिडसेबिजलीसप्लाईकादबावतयमापदंडसेनीचेहोताहैतबबिजलीलेनामहंगाहोताहैऔरऔसतनएकयूनिटकेलिए14रु.तकदेनेपड़तेहैं.ऐसेमेंकंपनियांबिजलीखरीदनेकेबजाएलोडशेडिंगकरतीहै.लेकिनछत्तीसगढ़इससेबचाहुआहै.

अगरबाकीराज्यदुरुस्तनिगरानीकेसाथग्रिडअनुशासनकाईमानदारीसेपालनकरेतोग्रिडफेलजैसीघटनासेबचाजासकताहै.छत्तीसगढ़इसमामलेमेंबाकीराज्योंकोदो-चारसबकसिखासकताहै.

By Douglas