रांची,राज्यब्यूरो।JharkhandNews,RuralWomenLifeChangedमुख्यमंत्रीहेमंतसोरेनकेनिर्देशपरझारखंडमेंउपलब्धवनोपजोंकेजरियेसुदूरगांवमेंरहनेवालेलोगोंकीआमदनीमेंबढ़ोतरीकाप्रयासरंगलारहाहै।राज्यकेवनोंमेंइमलीकेपेड़ोंकीअधिकताअबरोजगारकाजरियाबनरहाहै।खूंटीकेशिलदागांवकीसुशीलामुंडारोशनीइमलीसंग्रहणकाकामकरखुशहालहैं।पिछलेवर्षएकटनइमलीकेसंग्रहणसेसुशीलाको40हजाररुपयेकीआमदनीहुई।सुशीलाकहतीहैं-मैंनेकभीनहींसोचाथाकिजंगलोंमेंमुफ्तमेंउपलब्धइमलीसेइतनीकमाईहोसकतीहै।

सिमडेगाकेठेठईटांगरस्थितकेसरागांवकीलोलेनसमदइमलीसंग्रहणएवंप्रसंस्करणकाकामकररहीहैं।लोलेनसमदकेपासइमलीकेसातपेड़है,जिससेहरसालउन्हेंलगभगतीनटनइमलीमिलतीहै।लोलेनकोइमलीउत्पादनसेसालभरमेंएकलाखरुपयेतककीकमाईहोजातीहै,जिससेवेअपनेबच्चोंकोउच्चशिक्षादेनेमेंसमर्थहोपारहीहैं।ऐसेमेंकहाजासकताहैकिराज्यकीग्रामीणमहिलाएंइमलीकीखटाससेअपनेजीवनमेंआजीविकाकीमिठासघोलरहीहैं।

ग्रामीणविकासविभागकेतहतझारखंडस्टेटलाइवलीहुडप्रमोशनसोसाइटी(जेएसएलपीएस)केअंतर्गतमहिलाकिसानसशक्तिकरणपरियोजनाग्रामीणमहिलाओंकेलिएइमलीसंग्रहणएवंप्रसंस्करणकाकार्यकरअच्छीआमदनीउपलब्धकरानेमेंसहायकबनरहाहै।पांचजिलोंसिमडेगा,रांची,गुमला,पश्चिमीसिंहभूमऔरखूंटीमेंमहिलाकिसानसशक्तिकरणपरियोजनाकेअंतर्गत14,731किसानइमलीउत्पादनएवंप्रसंस्करणकेकार्यसेजुड़ेहैं।

महिलाकिसानसशक्तिकरणपरियोजनाकेद्वाराकिसानोंकोप्रशिक्षणऔरआधुनिकउपकरणोंकेजरिएप्रसंस्करणकाप्रशिक्षणदियागयाहै।पिछलेवर्षराज्यकी11हजारमहिलाकिसानोंद्वारा112मीट्रिकटनइमलीकासंग्रहणकरतकरीबन39लाखरुपयेसेज्यादाकाव्यापारकियागया।वर्तमानमेंकुल14,731महिलाकिसानोंद्वारा309मीट्रिकटनइमलीकासंग्रहणकरउसकाव्यापारकरनेकालक्ष्यरखागयाहै।इमलीकेकेकपलाशब्रांडकेतहतबाजारमेंउपलब्धकरायाजारहाहै।

By Elliott