जागरणसंवाददाता,पठानकोट:करीब32मेंसे22किसानसंगठनोंकीओरसेबलबीरसिंहराजेवालकेनेतृत्वमेंगठितकिएगएकिसानसंयुक्तमोर्चाकेचुनावीमैदानमेंनिर्दलीयकेतौरपरअपनेप्रत्याशीउतारनेकीघोषणाकेबादतमामराजनीतिकदलोंकोअपनीरणनीतिकोबदलनेपरभीविवशहोनापड़ेगा।प्रदेशकेअन्यहलकोंकेसाथहीयहमानाजारहाहैकिपठानकोटजिलेकेतीनोंहलकोंसेभीकिसानसंयुक्तमोर्चाअपनेप्रत्याशियोंकेनामोंकीघोषणाकरसकताहै।हालांकि,किसानआंदोलनकेदौरानजिलेकेकिसानोंकानेतृत्वकररहेगुरदियालसैनीसेआगामीविधानसभाचुनावकेमद्देनजरपूछेजानेपरउनकाकहनाथाकिफिलहालउनसेकिसानसंयुक्तमोर्चाकेपदाधिकारियोंनेसंपर्कनहींकियाहै,लेकिनसाथहीकहाकिअगरआदेशहोगातोवेअवश्यचुनावलड़ेंगे।ऐसेमेंयहमानाजारहाहैकिजिलेकेदोविधानसभाहलकोंसुजानपुरऔरभोआमेंयदिकिसानसंयुक्तमोर्चाकीओरसेअपनेप्रत्याशीघोषितकिएजातेहैंतोइससेकांग्रेस,आमआदमीपार्टीऔरअकालीदलकोसबसेअधिकनुकसानहोगा।वहीं,किसानसंयुक्तमोर्चाकेप्रत्याशियोंकेचुनावमैदानमेंहोनेभाजपाकोसबसेकमनुकसानहोगा।

शनिवारको22किसानसंगठनोंनेएकमंचपरआकरआगामीविधानसभाचुनावलड़नेकीघोषणाकरबड़ेसियासीदलोंकीचिताएंबढ़ादीहैं।जहांभाजपाकोछोड़करअन्यसभीराजनीतिकदलजिनमेंकांग्रेस,आमआदमीपार्टीऔरअकालीदलकिसानोंकेवोटोंपरनजरबनाएहुएथे।

By Edwards