संवादसहयोगी,पिथौरागढ़:सरकारएकओरतकनीकीशिक्षाकेजरिएपर्वतीयक्षेत्रकेयुवाओंकोवर्तमानजरूरतकेहिसाबसेदक्षबनानेकेदावेकररहीहैदूसरीऔरतकनीकीसंस्थानोंकाहालबेहालहै।संस्थानोंमेंअनुदेशकोंकेआधेसेअधिकपदखालीपड़ेहुएहैं।अनुदेशकनहींहोनेसेथलऔरदेवलथलमेंआइटीआइठपपड़ीहुईहै।

जिलेमेंवर्तमानमें15आइटीआइकागजोंमेंपूरीतरहसंचालितहोरहीहैं,लेकिनधरातलपरस्थितिउलटहै।देवलथलमेंतीनवर्षपूर्वआइटीआइस्वीकृतहुआथा।इसकेलिएसरकारनेसामानभीखरीदकरभेजदिया।सामानदोवर्षोसेकमरोंमेंबंदपड़ाहुआहै।अबतकयहांअनुदेशकोंकीतैनातीनहींहुईहै।थलआइटीआइमेंदोट्रेडअस्थाईशिक्षकोंकेभरोसेचलरहेथे,लेकिनशिक्षकोंकोदूसरीजगहतैनातीमिलजानेसेयहांभीतालेलगगएहैं।प्रशिक्षणार्थीघरोंमेंबैठनेकोमजबूरहैं।यहांकेलोगोंनेआइटीआइभवनबनानेकेनिशुल्कजमीनभीसरकारकोउपलब्धकराई,लेकिनसरकारभवननिर्माणकेमामलेमेंखामोशहै।

दूरदराजकेसंस्थानोंकीहालतछोड़भीदेंतोजिलामुख्यालयमेंहीस्थितिपटरीपरनहींहै।गणितपढ़ानेवालेशिक्षककोड्राफ्समैनपदकीपढ़ाईकरानीपड़रहीहै।फ्रिजऔरएयरकंडीशनजैसेट्रेडोंकेलिएस्थाईअनुदेशकनहींहै।सामान्यविज्ञानजैसेअनुदेशककापदभीलंबेसमयसेखालीपड़ाहुआहै।तकनीकीशिक्षाकीबदहालीसेमजबूरयुवाबड़ेशहरोंमेंपलायनकेलिएमजबूरहैं।संस्थानमेंपदखालीपड़ेहैं,जिसकीसूचनाहरमाहशासनकोभेजीजारहीहै।जितनेसंसाधनउपलब्धहैंउन्हींसेयुवाओंकोतकनीकीशिक्षादेनेकेपूरेप्रयासकिएजारहेहैं।वीकेचौधरी,प्राचार्य,आइटीआइ

By Finch