संवादसूत्र,हाथरस:जरासोचिए,अगरशादीमहजइसवजहसेटूटजाएकिआपकेगांवमेंखारेपानीकीसमस्याहै,तोवहांकेलोगोंकेदर्दकोसहजहीसमझाजासकताहै।सादाबादकीआठग्रामपंचायतोंके92गांवोंकायहीकहानीहै।परिवारसेएक-दोलोगदूरदराजसेपानीलानेकीजिम्मेदारीसंभालतेहैं।जबकोईइनगांवोंमेंअपनीबेटीकारिश्तालेकरआताहैतोमुंहफेरकरचलाजाताहै।गांवछोड़नेकेआश्वासनपरलोगबेटियोंकीशादीकेलिएतैयारहोतेहैं।हालातयेहैंकिअबलोगपलायनकेलिएमजबूरहैं।तमामलोगसादाबादमेंबसगएहैंतोकुछक्षेत्रहीछोड़करचलेगए।यहबड़ामुद्दापिछलेचुनावोंमेंभीगरमाया,परकिसीनेध्याननदिया।

सादाबादक्षेत्रआगराकेनिकटहै।1975केबादसेखारेपानीकीसमस्याहै।पानीकीगुणवत्ताइतनीखराबहैकिपशुभीइसमेंमुंहनहींडालते।ऐसेमेंलोगोंकोपीनेकापानीतोदूर,घरेलूकामकाजकेलिएभीदिक्कतोंकासामनाकरनापड़ताहै।टीटीएसपीयोजना

क्षेत्रमेंटीटीएसपी(टैंकटाइपस्टैंडपोस्ट)योजनाभीफेलहोगई।2010मेंतत्कालीनविधायकडॉ.अनिलचौधरीनेटीटीएसपीयोजनाकोमंजूरीदिलाकरघर-घरमीठापानीपहुंचानेकाप्रयासकियाथा।इसयोजनाकेतहतक्षेत्रमें10हजारलीटरकी400टंकियांलगाईजानीथीं।पूरीतरहसेगांवोंमेंपानीकीटंकियांनलगपानेकेकारणयोजनासफलनहींहोसकी।पाइपलाइनभीआधी-अधूरीबिछीहुईहै।प्रभावितग्रामपंचायतें

मन्स्या,नौगांव,कुरसंडा,मिढ़ावली,छावा,गुरसौटी,जैतई,वेदईआदिग्रामपंचायतोंके92गांवसमस्यासेप्रभावितहैं।यहांस्थापितहैंटंकियांवनलकूप

कुरसंडामेंदो,नगलाध्यानमेंएक,नौगांवमेंएक,वेदईमेंएक,नगलाहीरालालमिढ़ावलीमेंएकटंकीबनीहै।थलूगढ़ीवमन्स्यामेंएक-एकनलकूपलगायागयाहै।इनकाकहनाहै

गांवसेतीन-चारकिमीदूरसेपीनेकेलिएपानीलानापड़ताहै।खारेपानीकेकारणबीमारियांबढ़रहीहैं।

रूपेंद्रसिंह,कुरसंडागांवमेंयदिमीठापानीहोगा,तोबड़ीसमस्याहलहोजाएगी।बेटीब्याहनेकेलिएलोगसोचनेकोमजबूरनहींहोंगे।

चंद्रप्रकाश,अनगदातीनसेचारकिमीदूरसेप्रतिदिनपानीलानेमेंसमयबर्बादहोताहै।समस्याकानिदानहोनाचाहिए।

कल्पना,नगलाकाठगांवमेंयदिसाफपानीहोगातोसुबहजोसमयव्यर्थहोताहै,वहसमयहमअपनीपढ़ाईपरखर्चकरसकतेहैं।

आरती,नगलाकाठइनकाकहनाहै

गांवमेंबंदपड़ेट्यूबवेलकोचालूकरानेकेलिएप्रयासजारीहैं।जलनिगमकेअधिकारियोंसेभीपत्राचारकेसाथव्यक्तिगतसंपर्ककियाजाचुकाहै।

-मधुबालाचौधरी,ग्रामप्रधान,कुरसंडा

By Ellis