मुंबई,आठजनवरी::उनकीअनेकफिल्मेंफिल्मोत्सवोंमेंपंसदकीजातीहै,लेकिनअभिनेतानवाजुद्दीनसिद्दीकीकोलगताहैकिजिनफिल्मोंकोबाहरकाफीप्रसंशामिलतीहै,वेदेशमेंसेंसरशिपकेमसलोंमेंअटकजातीहैं।समीक्षकोंद्वाराप्रशंसितफिल्मबजरंगीभाईजानऔरमिसलवलीमेंकामकरनेवालेअभिनेतानेकहाकिवहउम्मीदकेमुताबिकवास्तविकरूपसेचीजोंकेनहींबदलनेपरबहुतदुखीहैं।नवाजुद्दीननेपीटीआई-सेकहा,हमबहुतसीचीजोंकेसुधरनेऔरआगेबढ़नेकीउम्मीदकरतेहैं,लेकिनवैसानहींहोता।पांचसालपहलेलोगोंमेंथोड़ीउम्मीदबाकीथी,क्योंकिअच्छीफिल्मेंबनरहीथीं।लेकिनअबवहलोगकुछफिल्मोंकोलेकरफिल्मोत्सवमेंतोजातेहैंऔरपुरस्कारएवंप्रसंशाभीपाजातेहैं,लेकिनजबवहयहांआतेहैं,तोऐसीफिल्मेंपूरीतरहविफलहोजातीहैं।यहबहुतभयानकहै।उन्होंनेकहाकिफिल्मेंवास्तविककहानियोंपरआधारितहोतीहैं,तोइन्हेंसेंसरसेपासहोनेमेंमुश्किलहोतीहै।उन्होंनेकहा,बहुतसीजगहोंमेंफिल्मसंघअथवासेंसरबोर्डकीओरसेपारितफिल्मोंकाहीचयनकियाजाताहै।लेकिनहमारीफिल्मेंवहांअटकजातीहैं।जबवास्तविकविषयोंपरआधारितफिल्मेंबनतीहैं,तोलोगउन्हेंपसंदकरतेहैं,लेकिनवहउसेपारितनहींकरपातेयाआगेनहींलेजाते।वहअपनीआनेवालीफिल्महरामखोरकोलेकरकाफीउत्साहितहैंजो13जनवरीकोप्रदर्शितहोगी।केन्द्रीयफिल्मप्रमाणनबोर्ड:सीबीएफसी:नेपहलेइसफिल्मकोयहकहकरपारितकरनेसेमनाकरदियाथा,किइसकाविषयस्वीकारकरनेयोग्यनहींहै।

By Dyer