बेतिया।तालाबमुख्यजलस्रोतहोनेकेसाथहीहमारीसांस्कृतिकविरासतकाभीएकहिस्साहै।यहकल्याणकारीभीहै।यहींकारणहैकिपहलेराजामहाराजाबड़ीसंख्यामेंतालाबोंकीखुदाईकरातेथे।बादमेंचलकरयहतालाबलोगोंकेसाथखेतोंकीप्यासबुझानेऔरपर्यावरणसंरक्षणमेंभीकारगरसाबितहुआ।मगरज्यों-ज्योंव्यक्तिकीजरूरतेंबढ़तीगईत्यों-त्योंलोककल्याणकीयहमहत्वपूर्णविरासतउपेक्षितहोताचलागया।यहींकारणहैकिआजछठघाटोंकेलिएभीतालाबोंढूंढेनहींमिलरहेहैं।पोखर-तालाबोंकीउचितरखरखावनहींहोनेकीवजहसेइसकेकिनारेछठकरनेकीपरिपाटीभीधीरे-धीरेघरोंतकसीमितहोतेजारहेहैं।इसेदेखतेहुएदैनिकजागरणकीओरसेजलस्त्रोतोंकेसंरक्षणपरचलाएगएअभियानकाअसरअबदिखनेलगाहै।लोगोंनेइसबातकाएहसासकरनाशुरुकरदियाहैकिजलहमारेलिएअतिमहत्वपूर्णहै।हमइसेबर्बादकरनेसेबचाएं।तभीहमाराभविष्यसुरक्षितरहेगा।वरनाप्रकृतिकीविपरीतरूपजीवजगतकोबुरीतरहप्रभावितकरदेगा।इसेध्यानमेंरखतेहुएआमलोगपोखरोंकीसाफ-सफाईमेंजुटगएहैं।इसीक्रममेंनरकटियागंजप्रखंडक्षेत्रअंतर्गतसाठीथानाक्षेत्रकेसोमगढ़पंचायतस्थितमहत्वपूर्णपोखरेकीसफाईकेलिएएकसाथकईहाथउठे।इसकेसाथहीपोखराकोसहेजनेकीकोशिशभीहुईऔरइसकासंकल्पभीलियागया।समाजसेवीमैनेजरशर्मा,विजयठाकुर,यशोदादेवी,रामबाबूशर्मा,मुकेशकुमार,परसनसहनी,मदनसहनी,मुस्मातबच्चियादेवीआदिनेपोखराकीसाफ-सफाईकी।

योशोदादेवीनेकहाकिहमारीथोड़ीसीलापरवाहीकेकारणहमारेधरोहरोंकेअस्तित्वपरसंकटमंडरानेलगाहै।इसपोखरेकोसबसेज्यादाखतरागंदगीसेहै।इसकेकारणअमृतपानीविषाक्तहोचलाहै।दैनिकजागरणद्वाराचलाईजारहीमुहिमप्रशंसाकेयोग्यहै।

---------------------------------------------

विजयठाकुरनेकहाकियहकाफीसंतोषकीबातहैकिपोखरोंकेजीर्णोद्धारकेप्रतियहअखबारजागरूकहुआहै।सरकारकोभीऐसेमहानधरोहरोंकोबचानेकीकवायदशुरुकरनीचाहिए।ताकिहमारीआनेवालीपीढ़ीपूर्वजोंकेइसमहानधरोहरपरगर्वकरसके।

मैनेजरशर्माकेअनुसारपोखर-तालाबोंकीउचितरखरखावनहींहोनेकीवजहसेइसकेकिनारेछठकरनेकीपरिपाटीभीधीरे-धीरेघरोंतकसीमितहोतेजारहेहैं।इसेहरहालमेंरोकनेकीकोशिशकीजानीचाहिए।

----------------------------------------

रामबाबूशर्मानेकहाकिलोककल्याणकीयहमहत्वपूर्णविरासतउपेक्षितहोताजारहाहै।यहींकारणहैकिआजछठघाटोंकेलिएभीतालाबोंढूंढेनहींमिलरहेहैं।इसलिएहमेंतालाबवपोखरोंकोबचानेकीहरसंभवकोशिशकरनीचाहिए।

By Field