जासं,बहराइच:लोकसभाचुनावकीरणभेरीकेबीचकॉलेजोंमेंभीचुनावीरंगचढ़नेलगाहै।छात्र-छात्राएंभीचुनावकोलेकरउत्साहितनजरआरहेहैं।कोईपहलीतोकोईदूसरीबारलोकसभाचुनावमेंमताधिकारकाप्रयोगकरनेजारहाहै।युवाअपनेमतोंकेमहत्वकोसमझतेहैं।लिहाजावहअपनेमतोंसेदेशकोमजबूतबनानेकेसाथशिक्षावरोजगारसृजनकरनेवालीसरकारचुननाचाहतेहैं।

छात्रसचिनत्रिपाठीकहतेहैंकियुवाओंकोरोजगारनहींमिलरहाहै।पढ़-लिखकरवहबेरोजगारघूमरहेहैं।रोजगारकेसाथराष्ट्रवादभीजरूरीहै।आजकायुवाराष्ट्रवादसेविमुखहोरहाहै।इसकीमुख्यवजहराजनीतिकदलोंकीओरसेसियासतचमकानेकेलिएकीजारहीगलतबयानबाजीहै।शिल्पीमिश्राकहतीहैंकिशिक्षाकेसाथप्रतियोगीपरीक्षापरिणामोंकीघोषणाकीतिथिनिर्धारितहोनीचाहिए।इसकाआवेदनकेसाथहीजानकारीआवेदकोंकोदेदेनीचाहिए।लचरप्रणालीकेचलतेकईयुवानौकरीपानेकोलेकरभटकतेरहतेहैं।इससेउन्हेंआर्थिकवसामाजिकनुकसानउठानापड़ताहै।एमएप्रथमवर्षकेछात्रअभिषेकशुक्लाकहतेहैंकिआरक्षणसेदेशतरक्कीनहींकरेगा,बल्किरोजगारसेहीदेशवढांचागतविकाससंभवहै।युवाओंकोरोजगारमिलनाचाहिए।आजकेदौरमेंआरक्षणकोलेकरतरह-तरहकीबयानबाजीहोरहीहै,लेकिनरोजगारकैसेमिलेइसपरराजनीतिकदलोंकोआत्ममंथनकरनाचाहिए।एमएद्वितीयवर्षकीछात्राकीर्तिश्रीवास्तवकहतीहैंकिचुनावकेदौरानतरह-तरहकेवादेकिएजातेहैं।वोटलेनेकेबादनेताभूलजातेहैं।इसबारचुनावमेंपुरुषकेसाथमहिलाओंकीसमानताकेअधिकारकामुद्दागुमहै।शिक्षाकेसाथरोजगारमेंभीमहिलाओंकोबराबरमौकामिलनाचाहिए।एमएद्वितीयवर्षकीछात्राहनीटंडनकहतीहैंकिआरक्षणव्यवस्थानेदेशकाबंटाधारकरदियाहै।इसव्यवस्थानेसमाजकोबांटनेकाकामकियाहै।रोजगारकेजरिएहरहाथकोकामदेकरदेशकोमजबूतकियाजानाचाहिए।आजकायुवाबेरोजगारघूमरहाहै।सरकारवहीं,जोयुवाओंकोसशक्तबनाए।

By Elliott