बस्ती:पैकोलिया-शिवाघाटमार्गपरयात्राकेदौरानकबहादसाजोजाएकहानहींजासकता।जरासीचूकहुईनहींकिजानआफतमेंपड़जाएगी।टूटकरजर्जरहोचुकीयहसड़कगिट्टीऔरमिट्टीकीहीनजरआतीहै।उखड़ीगिट्टियांहरतरफफैलगईहैं।बड़े-बड़ेगड्ढेराहगीरोंकीजानकेग्राहकबनेरहतेहैं।सड़ककीइतनीबुरीहालतकेबावजूदजिम्मेदारइसतरफध्यानदेनाभीमुनासिबनहींसमझरहेहैं।

14.600किमीलंबीइससड़ककानिर्माणवर्ष2008मेंप्रधानमंत्रीसड़कयोजनाकेतहतहुआथा।निर्माणकेकुछहीदिनोंबादयहसड़कटूटगई।कार्यदायीसंस्थानेमरम्मतकरानाउचितनहींसमझा।हांलाकिसड़ककेरखरखावकाजिम्माउसीसंस्थाकाथाजिसनेसड़कबनाईथी।नेतोसंस्थानेसड़कदुरुस्तकीऔरनहीजिम्मेदारोंनेउचितसमझा।संबंधितफर्मकोसरकारनेकालीसूचीमेंडालदिया।पांचसालपूराहोनेकेबादयहसड़कपीडब्ल्यूडीकोहैंडओवरकरदीगई।इसकीमरम्मतकेलिए1करोड़97लाख75हजाररुपयेआवंटितहुआ।जुलाई2017मेंइसकीमरम्मतकाकार्यशुरूहुआजोआजतकपूरानहींहोसकाहै।फिलहालपैकोलियाकीतरफसेलगभगदोकिमीतथाशिवाघाटकीतरफसातकिमीसड़कदुरुस्तकीगईहै।शेषसाढे़पांचकिमीकीहालतपहलेसेभीबदतरहोगईहै।जिसहिस्सेकीमरम्मतनहींहुईहैउसपरचलनामुश्किलहै।

लोकनिर्माणविभागकेप्रांतीयखंडकेअधिशासीअभियंताअनिलकुमारगुप्तानेबतायाकिबजटकेअभावमेंपूरीसड़ककीमरम्मतनहींकराईजासकीहै।बजटआतेहीकामपूराकरादियाजाएगा।रविंद्रसिंहराजननेकहाकिसरकारभलेहीप्रदेशकीसड़कोंकोगड्ढामुक्तकरनेकाफरमानजारीकरेपरइसकाअसरयहांदेखनेकोनहींमिला।वर्षोंसेबदहालसड़कअबभीवैसीकीवैसीहीहै।विजयशंकरसिंहकाकहनाहैकियहसड़कहर्रैयावभानपुरतहसीलकोजोड़तीहै।इतनीमहत्वपूर्णसड़ककोउपेक्षितरखनासमझसेपरेहै।सड़ककीयहहालतहैकिलोगइधरआनाभीनहींचाहतेहैं।महेंद्रबहादुरनेकहाकिबरसातकेमौसममेंसड़ककेगड्ढोंमेंपानीभरजाताहै।जिससेराहगीरोंकोगड्ढोंकाआंदाजाहीनहींलगताजिससेलोगआएदिनघायलहोरहेहैं।जिम्मेदारोंकोसुधिनहींहै।दीपकवर्माकाकहनाहैकिइसमार्गपरवाहनोंकोकाफीधीमीरफ्तारसेचलनापड़ताहैउसकेबादभीखतराबनारहताहै।जोचालकतेजीदिखाताहैउसकेदुर्घटनाग्रस्तहोनेकीसंभावनाअधिकरहतीहै।

By Duffy