संस,तिसरी(गिरिडीह):जिलेकेतिसरीप्रखंडअंतर्गतराजकीयहास्पीटलके108एंबुलेंसकेदोड्राईवरऔरदोतकनीशियनवर्षोंपुरानेजर्जरक्वार्टरमेंरहनेकोविवशहैं।हालयहहैकियहमकानकभीभीजमींदोजहोसकतेहैं।बरसातकेसमयइसकमरेसेपानीरिसताहै।ड्राइवरवतकनीशियनकाकहनाहैकिअचानककहींसेकॉलआताहैतोजानाहोताहैइसकेलिएयहांरहनाजरूरीहै।

बतादेंकिऐसेलोगवस्वास्थ्यकर्मीजोफ्रंटलाइनवर्करहैंवेरातदिनलोगोंकीसेवामेंलगेरहतेहैं।यहांसरकारकीओरसेकोईसुविधाउपलब्धनहींहै।कहनेकोतोयेस्वास्थ्यकर्मचारीहैंजो24घंटेतत्पररहतेहैं।मरीजोंचघायलोंकोसेवादेनेमेंरातकोभीवेनहींहिचकतेहैंपरउनकाअपनाजीवनहीसुरक्षितनहींहैऔरनहीचैनकीनींदवेसेसोपातेहैं।कभीछतसेपानीरिसनेवछतकाबड़ाहिस्सागिरनेकाडरसतातारहताहै।एकहीकमरेमेंचारलोगरहतेहैं।ऐसेमेंएंबुलेंसचालककीनींदनहींपूरीहोनेकीस्थितिमेंभयावहघटनाघटसकतीहै।

जर्जरमकानकीछतपूरीतरहधंसचुकीहैऔरछत,खिड़कियांभीध्वस्तहोचुकीहैंजोबरसातकेदिनोंमेंझरनेकारूपलेलेतीहै।इसकारणएककोनेमेंलगकररातजागकरबितानीपड़तीहै।हमलोगोंकेपासएकहीकमराहैजिसमेंमैंऔरदूसराड्राइवरप्रकाशयादवरहतेहैं।यहांदोटेक्नीशियनउर्फतअंसारीवबीरेन्द्रचौधरीरह्तेहैं।इसकीसूचनाछहमाहसेलगातारप्रभारीचिकित्सापदाधिकारीडा.देवव्रतसेवेलोगदेतेरहेहैंलेकिनअभीतककोईसुनवाईनहींहुईहै।केवलटालमटोलकरउन्हेंभेजदियाजाताहै।इधरचिकित्साप्रभारीनेकहाकिन्यूबिल्डिगमेंकमरानहींहैऔरस्टाफअधिकहैंजिससेबहुतस्टाफपुरानेमकानमेंरहनेकोविवशहैं।उन्होंनेकहाकितिसरीमेंस्टॉफकेलिएऔरबिल्डिगकानिर्माणहोनाचाहिएजिसेजर्जरमकानमेंरहनेवालेस्टाफकोदियाजासके।

राजेन्द्रयादव,108एंबुलेंसकेड्राईवर

By Dyer