संवादसहयोगी,डेहरीऑनसोन:(रोहतास)कैमूरपहाड़ीकेजंगलोंमेंहर्रा,बहेरा,आंवला,नागरमोथा,गुड़मार,मकोह,पियारसमेतअन्यजड़ी-बुटीवआयुर्वेदिकदवाओंकेउपयोगमेंआनेवालीजड़ी-बुटीकाफीमात्रामेंउपलब्धहैं।पहाड़ीपरलगभग90फीटऊंचाईपरस्थितबरकट्टागांवमेंवनवासीइनजड़ी-बुटियोंकीबिक्रीभीकरतेहैं।उन्हेंयहपतानहींकिइनजड़ी-बुटियोंकाबाजारमूल्यक्याहै।कोईचावल-आटावतेल-मसालाकेबदलेहीइनजड़ीबुटियोंकोदेदेतेहैं।इनजड़ीबुटियोंकोबेचनेकेलिएउन्हेंअधिकारकेसाथबाजारकाभीइंतजारहै।

जिलामुख्यालयसासारामसेलगभगसवासौकिलोमीटरदूरनौहट्टाप्रखंडकेकैमूरपहाड़ीपरबसेबरकट्टामेंऔषधीयजड़ी-बुटीवफलोंकीबिक्रीकेलिएसाप्ताहिकहाटलगताहै।समीपवर्तीउत्तरप्रदेशवझारखंडकेव्यापारीसाप्ताहिकबाजारमेंपहुंचअपनीदुकानेंलगातेहैंववनवासियोंसेजड़ी-बुटियोंकीखरीदारीऔने-पौनेदामपरकरतेहैं।खासयहकिकईदुकानदारजड़ी-बुटियोंकेबदलेमूल्यकेरूपमेंउन्हेंदैनिकआवश्यकताकीवस्तुदेदेतेहैं।कैमूरपहाड़ीपरएकमात्रयहीसाप्ताहिकबाजारहोनेकेकारणयहांवनवासीआंवला,हर्रा,बहेराकेअलावाअन्यवनौषधिभीबेचतेहैं।

बासठवर्षोंसेलगरहाबाजार:

जोंहागांवनिवासीचंद्रदीपउरांवबतातेहैंकिकैमूरपहाड़ीपरएकमात्रबाजारबरकट्टागांवमें1960मेंगांवकेजमींदाररोहनसिंहखरवारद्वाराशुरूकरायागयाथा।सांसदछेदीपासवाननेसातलाख49हजाररुपएकीलागतसेसातवर्षपूर्वयहांशेडकानिर्माणकरपुन:साप्ताहिकबाजारलगवानेकाप्रयासकियाथा।

वनवासीबतातेहैंकिकैमूरपहाड़ीपरबसे11राजस्वगांवके80टोलाकेलोगअपनीआवश्यकताकीवस्तुएंखरीदनेयहींआतेथे।यहांउत्तरप्रदेशकेकईशहरकेव्यापारीरोजमर्राउपयोगमेंआनेवालीवस्तुएंबेचतेथे।राजबंधुखरवारबतातेहैंकियहांसेआंवलाहरेबहेराआईठा,गुड़मारकेपत्तासमेतकईवनौषधिखरीदनेकेलिएव्यवसायीआतेहैं।हमारेपासनेअधिकारहैनहींव्यापकबाजारताकिउचितमूल्यइनसामग्रियोंकीमिलसके।रेहलकेसुदर्शनयादवकहतेहैकिपहलेऔषधीयफलएवंजड़ीबूटीबहुतहीकमदामोंपरव्यापारीखरीदकरलेजातेहैं।

कहतेहैंसांसद:

कैमूरपहाड़ीआयुर्विदकबाजारखोलनेकीमांगसरकारसेकीगईहै।वनवासियोंकोकमपैसादेकरयहांसेव्यापारीजड़ी-बुटीखरीदकरलेजातेहैंवबाजारमेंमहंगेदामपरबेचतेहैं।

छेदीपासवान-सांसद,सासारामसंसदीयक्षेत्र

By Evans