बस्ती:सरकारभलेहीगोशालाबनाकरबेसहारापशुओंकेसंरक्षणकेप्रतिगंभीरहोलेकिनजिसकेउपरसरकारकीयोजनाओंकेक्रियान्वयनकीजिम्मेदारीहैवहसरकारकीमंशासेबेपरवाहहैं।शासनकीसख्तीकाभीउनकेउपरकोईअसरनहींदिखरहाहै।गोशालाओंमेंइंतजामनहोनेपरजिलाधिकारीद्वारामुख्यपशुचिकित्साअधिकारीकोप्रतिकूलप्रविष्टिजरूरदीगई।बावजूदइसकेकोईसुधारनहींहोपारहाहै।

प्रशासननेबेसहारापशुओंकेसंरक्षणकेलिएब्लाकवनगरनिकायोंमेंगो-आश्रयकेंद्रखोलेगएहैं।इनगो-आश्रयकेंद्रोंमेंठंडसेबचावकोलेकरअफसरबेपरवाहहै।ठंडबढ़रहीहै,पशुठिठुररहेहैं।लेकिनठंडसेबचावकाकोईइंतजामनहींहै।अव्यवस्थासेपशुओंकीमौतभीहोरहीहै।

रुधौलीकार्यालयकेअनुसारगोशालामेंबंधेपशुशामहोतेहीठिठुरनेलगतेहैं।रुधौलीविकासखंडकेग्रामपंचायतबजहांमेंस्थितगोशालामेंठंडकमेंबचावकेलिएकोईव्यवस्थानहींकीगईहै।पालीथिनवतिरपालनलगनेसेठंडीहवापशुओंकोपरेशानकररहीहै।ठंडेफर्शपरबैठनेकेलिएपुआलभीनहींडालागयाहै।शामहोतेहीपशुएकदूसरेसेचिपककरबैठजातेहैं।ग्रामपंचायतमझौवाकलाद्वितीयस्थितगोशालामेंपशुओंकेलिएचारोंतरफपालीथीनलगादीगईहैजिससेपशुओंकोठंडसेबचावकेलिएकुछराहतमिलजातीहै।हालांकिपुआलवभूसाकाइंतजामनहींहै।पेयजलवइलाजकीभीसुमचितव्यवस्थागोशालाओंमेंनहींहै।

किसानोंकेलिएसमस्याबनेबेसहारापशु

पशुपालनविभागद्वाराबेसहारापशुओंकोपकड़नेमेंकोईरुचिनहींलीलारहीहै।गांवोंमेंघूमरहेपशुकिसानकीफसलचौपटकररहेहैं।फसलबचानेकेलिएकिसानोंकाकोईभीजतनकारगरनहींहोपारहाहै।पशुओंकेआतंकसेकईकिसानोंनेतोइसबारगेहूंकीखेतीहीछोड़दियाहै।

गो-आश्रयस्थलोंपरठंडसेबचावकेहरसंभवइंतजामकिएजारहेहैं।आश्रयकेंद्रोंकोप्लास्टिककेतिरपालसेघेराजारहाहै।ग्रामीणइलाकोंमेंघूमरहेबेसहारापशुओंकोपकड़करगोशालापहुंचायाजारहाहै।ग्रामीणोंकोभीइसमेंसहयोगकरनाचाहिए।

-अश्वनीकुमारत्रिपाठी,मुख्यपशुचिकित्साधिकारी,बस्ती।

By Farrell