अरुणदीक्षित,भोपालदेशमेंतंत्रकीराजधानीकेरूपमेंमशहूरमहाकालकीनगरीउज्जैनमेंकालभैरवकेलिएअलगसेशराबकीदुकानखुलेगी।इसदुकानपरसिर्फ180मिलीग्रामकीदेसीऔरअंग्रेजीशराबकीबोतलेंमिलेंगी।यहदुकान1अप्रैलसेशुरूहोजाएगी।कालभैरवकोउनकेभक्तशराबअर्पितकरतेहैं।भलेहीआधुनिकदुनियामेंइसबातपरभरोसानकियाजाए,लेकिनमान्यताहैकिकालभैरवउज्जैनमेंभक्तोंद्वाराअर्पितशराबकासेवनकरतेहैं।प्रतिदिनसैकड़ोंभक्तकालभैरवकेदर्शनकेलिएआतेहैं।अधिकांशलोगउन्हेंशराबपिलाकरजातेहैं।इसीकोदेखतेहुएमध्यप्रदेशसरकारनेकालभैरवमंदिरकेपासशराबकीदुकानखोलनेकाफैसलाकिया।प्रदेशकेआबकारीआयुक्तराकेशश्रीवास्तवकेमुताबिक,शराबकीदुकानकेलिएटेंडरदिएजारहेहैं।सरकारकेपासइसबातकाकोईआंकड़ानहींहैकिकालभैरवपरप्रतिदिनकितनीबोतलशराबचढ़ाईजातीहै।दुकानखोलनेकेपीछेउसकातर्कयहहैकिअभीस्थानीयदुकानदारकालभैरवकोशराबचढ़ानेवालेलोगोंसेमनमानेदामवसूलतेहैं।सरकारीदुकानखुलनेकेबादकालभैरवकेभक्तोंकोउचितदरपरशराबमिलेगी।यहांयहभीबतानाउचितहोगाकितमामखोजकेबादअभीतकयहपतानहीचलपायाहैकिकालभैरवकीपत्थरकीमूर्तिशराबकैसेपीतीहै।इससंबंधमेंउज्जैननगरीमेंकईतरहकीकहानियांप्रचलितहैं।उज्जैनशहरमेंहर12सालमेंमहाकुंभकाआयोजनहोताहै।मध्यप्रदेशमेंमहाकुंभकोसिंहस्थकहाजाताहै।उज्जैनमेंअगलामहाकुंभअप्रैल2016मेंहोगा।

By Douglas