जासं,प्रतापगढ़:शारदीयनवरात्रमेंआदिशक्तिमांदुर्गाकेविविधस्वरूपभक्तोंकोशक्तिदेरहेहैं।गुरुवारकोमांकेकात्यायनीस्वरूपकापूजनकरकेभक्तोंनेसांसारिककष्टोंसेमुक्तिकीप्रार्थनाकी।छठवेंदिनभीभक्तोंमेंआस्थावउत्साहदेखागया।मांकेजयकारेलगातेभक्तनवरात्रकोसार्थककरनेमेंलगेरहे।लोगपरिवारकेसाथभीघरोंसेलेकरमंदिरोंतकमांदुर्गाकीआराधनाकररहेहैं।हरओरजयकारोंकीगूंजहै।पंडालोंमेंभोरसेलेकरदेरराततकभक्तपहुंचरहेहैं।सईकेकिनारेस्थितमांबेल्हादेवीकाधामपटखुलतेहीभक्तोंसेभरजाताहै।भोरसेहीभक्तोंकाआनाशुरूहोजाताहै।वहगुरुवारकोभीकतारमेंलगकरपूजनकरतेनजरआए।मेनगेटसेलेकरमंदिरपरिसरवअन्यमंदिरोंतकभीलोगपहुंचे।दोपहरबादभीड़औरबढ़गई।भक्तोंनेमांकोरोटचढ़ाकरभावव्यक्तकिए।तरह-तरहकेप्रसाद,मालाफूलसेमांकोमनाया।शहरकेसिविललाइनशुकुलपुरस्थितचंद्रिकनमंदिरमेंमांदुर्गाकेसभीनौस्वरूपोंकीप्रतिमास्थापितहै।लोगनवरात्रमेंइनकादर्शनकरनेकोआरहेहैं।रानीगंजप्रतिनिधिनेबतायाकिमांवाराहीकेधाममेंभक्तलगातारआरहेहैं।वहआयुकीरक्षाकरनेवालीमांवाराहीकेदर्शनकोभक्तपहुंचरहेहैं।गुरुवारकोभीयहांआएलोगजयकारेलगातेहुएहाथोंमेंनारियल,चुनरी,प्रसादलेकरदर्शनकरकेधन्यहोतेरहे।

कलशमेंविराजींमांशेरावाली

नगरकेचिलबिलामेंहनुमानमंदिरतालाबपरिसरमेंहरसालसजनेवालादुर्गापंडालइसबारकलशकीतरहसजाहै।मंगलकलशदूरसेहीनजरआताहै,जोभक्तोंकोआकर्षितकरताहै।इसमेंमांकीमूर्तिरेडियमसेबनीहै,जोरोशनीपड़तेहीआभाबिखेरनेलगतीहै।संयोजकरोशनलालऊमरवैश्यकीदेखरेखमेंयहांपरमांकीआरतीहोरहीहै।दूर-दूरसेभक्तदर्शनकोपहुंचरहेहैं।इसकेपहलेयहांपरलक्ष्मणझूला,ओवरब्रिज,वैष्णोंपर्वतआदिकीतर्जपरबनेपंडालयादगाररहेहैं।यहांआनेवालेलोगहनुमानजीवदुर्गाजीकेभीदर्शनकरतेहैं।

By Dyer