नईदिल्ली।नएकृषिकानूनोंमेंकिएगएप्रविधानोंसेकृषिविज्ञानीखासाउत्साहितहैंऔरखेतीकिसानीकेआगेबढ़नेकीदिशामेंइसेमहत्वपूर्णकरारदेरहेहैं।साथहीकांट्रेक्टफार्मिगकोसमयकेहिसाबसेउठायागयाएकउचितकदमबतारहेहैं।पिछलेकुछसमयसेकृषिकानूनकेहोरहेविरोधपरविज्ञानीकासाफकहनाहैकियहकानूनकिसानोंकेहितमेंहै,यदिकहींसंशोधनकीआवश्यकताहैतोउसकेलिएभीसरकारतैयारहै,ऐसेमेंशुरुआतमेंहीइसकाविरोधअनुचितहै।इनसभीमुद्दोंपरभारतीयकृषिअनुसंधानसंस्थानकेप्रधानविज्ञानीडॉ.जेपीएसडबाससेगौतमकुमारमिश्रनेबातचीतकी।पेशहैबातचीतकेमुख्यअंश..

कृषिकानूनोंसेकिसानोंकोकैसेलाभमिलेगा?

-मोटेतौरपरकृषिकानूनोंकेतीनपहलूहैं।पहलेमेंकांट्रैक्टफॉर्मिंगकीबातआतीहै।कांट्रेक्टफॉर्मिंगहमारेदेशकेलिएकोईनईबातनहींहै।इसकानूनमेंकेवलइसेसंगठितकियागयाहै।किसानोंकोयहअधिकारदियागयाहैकिवेदिक्कतआनेपरअबअधिकारियोंकेसमक्षदूसरेपक्षकीशिकायतकरसकेंगे।दूसरेपहलूमेंयहकानूनकिसानोंकोअपनीउपजकहींभीबेचनेकीआजादीदेताहै।जहांकिसानकोअच्छीकीमतमिलेगी,अबवहवहांअपनीउपजबेचनेकोस्वतंत्रहै।पहलेयहआजादीनहींथी।कानूनकातीसरापहलूकिसानोंकोसीधेतौरपरतोनहीं,लेकिनअप्रत्यक्षतौरपरफायदापहुंचाएगा।इसकेअंतर्गतभंडारणकोलेकरसीमाखत्मकरदीगई,लेकिनसवालयहहैकिव्यापारीजिसभीउपजकाभंडारणकरेगा,वहकिसानोंसेहीतोखरीदेगा।कहींनकहींइसकालाभकिसानोंकोहीमिलेगा।आपकोबतादेंकिसरकारभीअपनीजरूरतोंकेलिएकिसानोंकेसाथकांट्रेक्टखेतीकासहारालेतीहै।उदाहरणकेतौरपरराष्ट्रीयबीजनिगमकिसानोंकेसाथविभिन्नफसलोंकेबीजकेलिएकांट्रेक्टकरताहै।कांट्रेक्टमेंबीजकेलिएनिर्धारितराशिबाजारभावसेअधिकहोतीहै।देशकेकईहिस्सोंमेंकिसानराष्ट्रीयबीजनिगमकेअलावाअपने-अपनेराज्योंकेबीजनिगमकेलिएभीउत्साहसेकांट्रेक्टफॉर्मिंगकरतेहैं।आपपतालगालीजिए,इनमेंसेकितनेकिसानोंकीजमीनेंगईहैं।यहकेवलएकमनगढंतबातहै।कांट्रेक्टफॉर्मिंगकादायराअबकेवलसरकारीएजेंसीतकनहींरहा।अबनिजीक्षेत्रकीकंपनियांभीइसक्षेत्रमेंआएंगीऔरइसकासीधालाभकिसानोंकोहीमिलेगा।

प्रदर्शनकारीकहरहेहैंकांट्रेक्टफार्मिगसेकिसानोंकीआजादीचलीजाएगी?

-समस्यायहहैकिकृषिकानूनविरोधकरनेवालोंनेइनकानूनोंकोठीकसेजानाहीनहींहै।ऐसाप्रतीतहोताहैकिवेकानूनकेबजायसरकारकाविरोधकररहेहैं।यदिकानूनकीतमामबातोंकोवेठीकसेपढ़लेंतोयहकानूनउन्हेंसमयकीजरूरतवफायदेपहुंचानेवालालगेगा।कांट्रेक्टफार्मिगकेवलदोपक्षोंकेबीचहुआएककरारहै।कोईभीकरारतभीहोगा,जबदोनोंपक्षसहमतहोंगे।सहमततभीहोंगेजबदोनोंकोयहफायदेकासौदालगेगा।ऐसेमेंकिसानोंकीआजादीछीननेकीबातकहांसेआगई।कांट्रेक्टफार्मिगमेंयहभीहैकियदिआपकोयहसहीनहींलगेतोआपइससेअलगभीहोसकतेहैं।

कांट्रेक्टफार्मिगकाफायदासबसेअधिककिसक्षेत्रकोमिलेगा?

-हमारेदेशमेंखाद्यप्रसंस्करणकाबाजारतेजीसेफैलरहाहै।इसक्षेत्रमेंनिर्यातकीभीप्रचुरसंभावनाएंहैं।कईनिजीकंपनियांइसक्षेत्रमेंकदमरखरहीहैं।ऐसीस्थितिमेंकांट्रेक्टफार्मिगनसिर्फउद्यमीकोबल्किसीधेतौरपरकिसानोंकोभीफायदापहुंचाएगा।उदाहरणकेतौरपरआलूकेचिप्सकोहीलें।चिप्सनिर्माणकेलिएजरूरीहैकिऐसाआलूमिलेजिसमेंशुष्कतत्वकीमात्रअधिकतमहो।तभीबेहतरगुणवत्तावालाचिप्सबनेगा।अबकंपनीजबकिसानोंसेकरारकरेगीतोवहकिसानोंकोअपनीजरूरतसेअवगतकराएगी।उन्हेंआवश्यकसंसाधनभीदेगीऔरतकनीकभीदीजाएगीजिससेजोउत्पादहोवहबेहतरचिप्सनिर्माणकेअनुकूलहो।इससेचिप्सनिर्माणकेलिएफैक्टियांखोलीजाएंगीऔरवहांरोजगारकीसंभावनाएंभीबनेंगी।साथहीआधारभूतसंरचनाकाभीविकासहोगा।

प्रधानमंत्रीअक्सरलैबटूलैंडकीबातकहतेहैं।इसदिशामेंभारतीयकृषिअनुसंधानसंस्थानक्याकररहीहै?

-विज्ञानीअपनीमेहनतसेनईनईकिस्मोंकाइजादकरतेहैं।खेतीमेंबेहतरीकेलिएकईतकनीकभीविकसितकरतेहैं,लेकिनइसकाफायदातभीहोगाजबयेतकनीकयाउपलब्धियांकिसानोंतकपहुंचे।पूसासंस्थानइसदिशामेंलगातारप्रयासकरताहै।समयसमयपरसंस्थानकेविज्ञानीकिसानोंकेबीचजाकरउन्हेंनईतकनीकसेअवगतकरातेहैं।पूसासंस्थाननेअपनाएकयूट्यूबचैनलशुरूकियाहै,जिसमेंकिसानोंकोनईतकनीकोंकेसाथ-साथफसलोंकीगुणवत्ताकैसेबढ़ाएं,इसकेबारेमेंभीजानकारीदीजातीहै।पूसाकाकिसानमेलाइसदिशामेंमीलकापत्थरसाबितहोचुकाहै।इसमेंपूरेदेशसेकिसानशामिलहोनेआतेहैंऔरफसलकेसाथ-साथकृषिसेजुड़ेसभीआयामजैसेपशुपालन,मत्स्यपालन,मधुमक्खीपालन,समेकितकृषिसहितकईजानकारियांहासिलकरतेहैं।

By Douglas